चीनी युद्ध बंदी की नरेंद्र मोदी से गुहार

  • 24 अक्तूबर 2016
इमेज कॉपीरइट AP

'द हिंदुस्तान टाइम्स' में छपी एक ख़बर के अनुसार भारत में रह रहे 77 साल के एक चीनी युद्धबंदी को उम्मीद है कि उन्हें अपने देश जा कर अपने भाइयों और बहनों से मिलने की इज़ाज़त मिलेगी.

राज बहादुर नाम से जाने जाने वाले वांग ची को भारत-चीन युद्ध के दौरान भारतीय रेड क्रॉस ने पकड़ा था और भारतीय सेना के हवाले कर दिया था. अख़बार की रिपोर्ट के अनुसार वो कई साल भारत की जेल में रहे और फिर मध्यप्रदेश के बालाघाट में उनका पुनर्वास किया गया.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption 1959 में तिब्बत में एक चीनी सैनिक बौद्ध धर्मावलंबियों को संबोधित कर रहे हैं.

वांग ची भारतीय और चीनी सरकार से चीन जाकर अपने रिश्तेदारों से मिलने की इजाज़त मांग रहे हैं.

वांग ची ने अख़बार को बताया कि, "मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बारे में बहुत सुना है और मैं उनके विनती करता हूं कि मुझे अपने भाई-बहनों से मिलने दें.

इमेज कॉपीरइट EPA

'इंडियन एक्सप्रेस' में छपी एक ख़बर के अनुसार इस साल दिवाली पर इंटरनेट पर सामान बेचने वाली दुकानें कुल 2000 करोड़ रूपए विज्ञापन देने पर खर्च कर सकती हैं.

आंकड़ों के अनुसार अक्टूबर के पहले सप्ताह में ही कंपनियां टेलीविज़न, अख़बारों और रेडियो पर विज्ञापन प्रसारित करने में 500 करोड़ रुपए खर्च कर चुकी हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

'पायनियर' में छपी एक ख़बर के अनुसार राष्ट्रीय हरित अधिकरण यानि एनजीटी ने कहा है कि गंगा की बदहाली की वजह ग़लत योजनाएं और संबद्ध अधिकारियों के अवैज्ञानिक तौर-तरीके हैं.

अधिकरण ने गंगा से जुड़ी जानकारियों की कमी पर चिंता जताई है और कहा है कि यह साफ़ नहीं है कि नदी के किनारे कुल किनते उद्योग लगे हैं, वो किस तरह के उद्योग हैं और कितनी मात्रा में गंदगी या कूड़ा गंगा में बहाते हैं.

एनजीटी का मानना है कि गंगा के एक हिस्से में प्रदूषण की मुख्य वजह चमड़ा उद्योग है.

इमेज कॉपीरइट Aam Aadmi Party, Facebook

'जनसत्ता' में प्रकाशित एक ख़बर के अनुसार आम आदमी पार्टी ने पंजाब के लोगों से शराब माफ़िया को ख़त्म करने का वादा किया है.

आम आदमी पार्टी ने पंजाब में सत्ता में आने पर शराब माफ़िया ख़त्म करने के साथ, 'छापेमारी राज' पर अंकुश लगाने और व्यापार व उद्योग को फिर से पटरी पर लोने के लिए कई क़दम उठाने और कुछ क्षेत्रों के लिए कर रियायतों का वादा भी किया है.

पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने उद्योग और परिवहन क्षेत्र के लिए घोषणापत्र जारी किया जिसमें पार्टी ने कर की दर कम करने और रेत माफिया को ख़त्म करने का वादा किया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

'दैनिक जागरण' में छपी एक ख़बर के अनुसार दिल्ली की तीस हज़ारी अदालत के विशेष मोटर एमसीटी यानी ऐक्सिडेंट क्लेम ट्राइब्यूनल ने एक नामी कंपनी में काम करने वाले व्यक्ति और उनकी बेटी की सड़क हादसे में मौत के मामले में परिजनों को 2.90 करोड़ रुपए का मुआवज़ा देने का आदेश दिया है.

दुर्घटना साल 2007 में हुई थी जब कुरुक्षेत्र रोडवेज़ के चालक की लापरवाही से हादसा हुआ था.

जज ने कहा कि उक्त वाहन का इंश्योरेंस आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस द्वारा कराया गया था. जज ने मृतक की पत्नी और बेटी को 2.90 करोड़ रुपए बतौर मुआवज़ा देने का आदेश कंपनी को दिया है.

'दैनिक भास्कर' में छपी एक ख़बर के अनुसार विश्व में चुनावी भ्रष्टाचार के सबसे अधिक मामले भारत में हैं.

त्रिपुरा हाईकोर्ट के जस्टिस शुभाशीष तलपात्रा ने शनिवार को कहा कि चुनावों के दौरान कई उम्मीदवार और नेता चुनावी भ्रष्टाचार में शामिल होते हैं, लेकिन ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि कोई राजनीतिक दल ऐसे लोगों पर कार्रवाई नहीं करता.

अख़बार के अनुसार जज ने एक सेमिनार में कहा कि सिर्फ क़ानून बना देने से ऐसे भ्रष्टाचार को नहीं रोका जा सकता.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)