भारत और पाकिस्तान 'नियंत्रण रेखा पर फ़ायरिंग', तीन की मौत

इमेज कॉपीरइट AFP

भारत और पाकिस्तान ने रविवार को एक दूसरे पर नियंत्रण रेखा पर 'बिना वजह के फ़ायरिंग' का इलज़ाम लगाया है जिसमें भारत के मुताबिक़ उसके अर्धसैनिक बल के एक जवान की मौत हो गई है.

जबकि पाकिस्तान ने दावा किया है कि भारत की ओर से हुई गोलीबारी में एक डेढ़ वर्षीय बच्ची समेत दो लोगों की मौत हो गई है और सात घायल हैं.

भारतीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने एक ट्वीट में रविवार को जम्मू के आरएस पुरा सेक्टर में एक जवान के मौत की बात कही है.

भारतीय सीमा सुरक्षा बल (का कहना है कि फ़ायरिंग में एक जवान घायल भी हुआ है.

बीएसएफ़ के मुताबिक़ पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पर मौज़ूद 13 चौकियों और गांवों को निशाना बनाया.

ये चौकियां और गांव भारत प्रशासित जम्मू कश्मीर के जम्मू क्षेत्र के आरएसपुरा सेक्टर, पारगवाल और कानाचक इलाक़े में स्थित हैं.

उड़ी के सैन्य शिविर पर 18 सितंबर को हुए चरमपंथी हमले के बाद से भारत-पाक सीमा पर तनाव बना हुआ है.

इमेज कॉपीरइट EPA

पाकिस्तानी सेना ने सोमवार को एक बयान जारी कर कहा कि भारत की ओर से रविवार और सोमवार रात हरपल, पखुलियाँ और चारवाह सेक्टर्स में फायरिंग की गई.

पाकिस्तानी सेना ने ये भी दावा किया कि भारतीय फ़ायरिंग में उसके सात आम नागरिक घायल हुए हैं जिन्हें इलाज के लिए सियालकोट ले जाया गया है.

पाकिस्तान ने कहा कि उसकी सेना ने भी भारतीय फ़ायरिंग का जवाब दिया.

भारतीय सेना ने 29 सितंबर को पाक प्रशासित कश्मीर की सीमा में सर्जिकल स्ट्राइक कर चरमपंथियों के लांचिंग पैड को तबाह करने का दावा किया था.

बीएसएफ़ ने 21 अतूबर को दावा किया था कि कठुआ में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास पाकिस्तान की फ़ायरिंग के जवाब में की गई फ़ायरिंग में आठ पाकिस्तानी रेंज़रों और एक चरमपंथी की मौत हुई है.

हालांकि पाकिस्तानी सेना ने इस तरह के किसी नुक़सान से इनकार किया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)