मुहूर्त ट्रेडिंग पर निवेशकों में रही सुस्ती

  • 30 अक्तूबर 2016
इमेज कॉपीरइट Reuters

दीवाली के मौके पर शेयर बाज़ारों में होने वाली ख़ास मुहूर्त ट्रेडिंग पर ख़ास चहल-पहल देखने को नहीं मिली.

पिछली तीन मुहूर्त ट्रेडिंग में बाज़ार थोड़ा ही सही लेकिन मजबूती के साथ बंद हुआ था.

शुरुआती कारोबार में कुछ जोश दिखने के बाद बाज़ार में सुस्ती छा गई.

आम तौर पर मुहूर्त ट्रेडिंग के दिन बाज़ार में सकारात्मक रुझान रहता है और लोग इस मौके को शुभ मानते हुए ख़रीदारी पर ज़ोर देते हैं. 2005 के बाद से मुहूर्त ट्रेडिंग पर 12 में से 9 मौकों पर बाज़ार में ख़रीदारों का बोलबाला रहा था.

इमेज कॉपीरइट AFP

कारोबारी सत्र के दौरान 30 शेयरों के सूचकांक सेंसेक्स ने 28096 अंकों का ऊपरी स्तर छुआ था, लेकिन बाद में ये 27930 पर बंद हुआ. इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक निफ्टी दिन के ऊपरी स्तर 8678 को छूने के बाद 8625 पर बंद हुआ.

मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान निवेशकों की दिलचस्पी दिग्गज शेयरों पर दांव लगाने के बजाय मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में रही. बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 0.5 प्रतिशत की मजबूती के साथ बंद हुआ.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)