छठ पर सूरज को दिया गया आस्था का अर्घ्य

छठ वो त्योहार है जिसमें डूबते और उगते सूरज दोनों ही वक्त का बराबर महत्व है. डूबते सूरज को अर्घ्य देने के साथ रविवार शाम इस त्योहार की खूबसूरत झलकियां देश के कई राज्यों में देखने को मिलीं.

मुख्य रूप से छठ बिहार और झारखंड में मनाया जाता है. लेकिन कई अन्य राज्यों में नदियों, नहरों के किनारे श्रद्धालुओं की भीड़ रही. देखिए छठ के मौके पर घाटों की कुछ ख़ास तस्वीरें.

रविवार शाम को सूरज को अर्घ्य देने से पहले बिहार में महिलाएं घाटों की तरफ जाती हुईं.

केंद्रीय खाद्य मंत्री राम विलास पासवान बेटे चिराग और परिवार की महिलाओं के साथ छठ मनाते हुए.

बिहार के मख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने घर पर ही छठ पूजा के दौरान अर्घ्य देते हुए इस तस्वीर में नजर आ रहे हैं.

ऐसा जरूरी नहीं है कि छठ पूजा पर महिलाएं सिर्फ नदी या नहर किनारे ही सूरज को अर्घ्य देती हैं. जिन जगहों में ये व्यवस्था नहीं होती है, वहां अब महिलाएं ऊपर दिख रहे तालाबों से भी अर्घ्य देती हैं.

इस त्योहार के बारे में हिंदू धर्म के जानकार पंडित रामदेव पांडे ने बीबीसी को बताया, ''छठ के बारे में कहा जाता है कि इस व्रत को पहली बार सतयुग में राजा शर्याति की बेटी सुकन्या ने रखा था.''

अर्घ्य देते वक्त छठ के प्रसाद को सूप में रखा जाता है.