छत्तीसगढ़: महिला प्रोफेसरों की गिरफ़्तारी रोकी

  • 11 नवंबर 2016
इमेज कॉपीरइट AlOK PUTUL

छत्तीसगढ़ सरकार ने कहा है कि बस्तर के सामनाथ बघेल की हत्या के मामले में दिल्ली विश्वविद्यालय की प्रोफेसर नंदिनी सुंदर और प्रोफेसर अर्चना प्रसाद समेत चार लोगों को 15 नवंबर तक गिरफ़्तार नहीं किया जाएगा.

नंदिनी सुंदर की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने अगली सुनवाई की तारीख़ 15 नवंबर तय की है. सुप्रीम कोर्ट ने राज्य और केन्द्र सरकार से इस मामले में रिपोर्ट पेश करने के लिए कहा है.

इमेज कॉपीरइट NANDINI SUNDAR TWITTER
Image caption दिल्ली विश्वविद्यालय की प्रोफ़ेसर नंदिनी सुंदर

इस दौरान सरकार का पक्ष रखते हुए असिस्टेंट सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि अगली तारीख़ तक इनकी गिरफ़्तारी नहीं की जाएगी.

इस बीच, पुलिस के दावे के उलट मृतक सामनाथ बघेल की पत्नी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा है कि उन्होंने किसी के नाम से कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं करवाई है और ना ही पति की हत्या करने वाले किसी व्यक्ति को वो पहचानती हैं.

गांव के दूसरे लोगों ने भी पुलिस के इस दावे को ग़लत बताया है कि नंदिनी सुंदर और उनके साथियों ने ग्रामीणों को पुलिस के ख़िलाफ़ भड़काया है.

दरभा क्षेत्र के ग्राम नामा में पिछले शुक्रवार संदिग्ध माओवादियों ने सामनाथ बघेल की हत्या कर दी थी.

इमेज कॉपीरइट AlOK PUTUL

पुलिस ने इस मामले में सामनाथ बघेल की पत्नी की थित शिकायत पर तोंगपाल थाने में प्रोफेसर नंदिनी सुंदर, प्रोफेसर अर्चना प्रसाद, सीपीएम नेता संजय पराते, विनीत तिवारी, मंजू कवासी और मंगल राम कर्मा के ख़िलाफ़ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है.

बस्तर के आईजी शिवराम प्रसाद कल्लुरी के मुताबिक़ इन सभी के ख़िलाफ़ पुलिस के पास प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कई सबूत हैं.

इमेज कॉपीरइट AlOK PUTUL

लेकिन नंदिनी सुंदर और दूसरे लोगों ने पुलिस के दावे का खंडन किया है और आरोप लगाया है कि सुप्रीम कोर्ट में सलवा जुडूम और उसके बाद ताड़मेटला कांड में पुलिस के ख़िलाफ़ उनकी याचिका के कारण पुलिस और छत्तीसगढ़ सरकार के ख़िलाफ़ कार्रवाई हुई है, इसलिए पुलिस ने उनके ख़िलाफ़ फ़र्ज़ी मुक़दमा दर्ज किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए