नोटबंदी से कश्मीर में पत्थरबाज़ी बंद : पर्रिकर

  • 15 नवंबर 2016
इमेज कॉपीरइट PIB

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा है कि पांच सौ और एक हजार रुपए के नोटों को बंद करने के बाद कश्मीर में सुरक्षाबलों पर पत्थरबाज़ी की घटनाएं बंद हो गई हैं.

एक ट्वीट में पर्रिकर ने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया है.

उन्होंने लिखा है कि इसके पहले सुरक्षा बलों पर पत्थरबाज़ी करने के लिए 500 रूपए दिए जाते थे. उन्होंने लिखा है कि एक हज़ार रुपए किसी और काम के लिए दिए जाते थे.

रक्षा मंत्री के अनुसार इन नोटों का इस्तेमाल बंद होने से अब युवाओं को ऐसा पैसा मिल नहीं रहा है और इसलिए पत्थरबाज़ी नहीं हो रही है.

पर्रिकर की इस टिप्पणी को कश्मीर के हालात पर तंज की तरह देखा जा रहा है.

इस साल हिजबुल मुजाहीदीन के कथित कमांडर बुरहान वानी की सुरक्षा बलों के साथ नौ जुलाई को हुई मुठभेड़ में मौत के बाद भारत प्रशासित कश्मीर घाटी में हिंसा का दौर शुरू हो गया था.

आक्रोशित लोगों ने सुरक्षा बलों को निशाना बनाया था. इस दौरान सुरक्षा बलों की कार्रवाई में 90 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी.

सुरक्षा बलों की ओर से पैलेट गन से की गई फ़ायरिंग में दो हज़ार से अधिक लोग घायल हुए थे. इनमें से कुछ लोगों के आंखों की रोशनी भी चली गई थी.

इसके बाद से ही कश्मीर घाटी में जनजीवन बुरी तरह से अशांत रहा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए