मोदी ऐप पर नोटबंदी से सब खुश हैं

इमेज कॉपीरइट Reuters

मोदी सरकार के नोटबंदी के फ़ैसले का 90 फ़ीसदी लोग समर्थन कर रहे हैं. यह आंकड़ा है नमो ऐप के ज़रिए हुए एक सर्वेक्षण का जिसमें लोगों से इस बारे में उनकी राय पूछी गई थी.

22 नवंबर को सुबह 10 बजे शुरू किए गए इस सर्वे को 30 मिनट के भीतर 5 लाख उत्तर मिले थे. इन सभी आंकड़ों को पीएम मोदी ने अपने ऐप पर और ट्विटर पर लोगों के साथ साझा किया है.

पढ़ें - मोदी की नोटबंदी पर 'राय' देना आसान नहीं

मोदी ने इस सर्वे में हिस्सा लेने के लिए जनता का धन्यवाद किया है. एक ट्वीट में उन्होंने लिखा, "इस सर्वे में हिस्सा लेने के आपकी ऐतिहासिक भागीदारी के लिए आपका धन्यवाद करता हूं. मुझे आपकी राय और टिप्पणियां पढ़ कर अच्छा लगा."

सर्वे के आंकड़े कुछ इस तरह हैं (कुल 5 लाख उत्तरों के आधार पर) -

  • 98 फ़ीसदी लोगों का मानना है कि भारत में काला धन है.
  • 90 फीसदी लोगों का मानना है कि काले धन से निपटने के लिए नोटबंदी का फ़ैसला सही है.
  • 92 फ़ीसदी लोगों ने भ्रष्टाचार से निपटने के लिए सरकार की कोशिशों को पसंद किया है.
  • 99 फ़ीसदी लोगों के अनुसार भ्रष्टाचार और काले धन की बुराई से निपटना ज़रूरी है.
  • 92 फ़ीसदी लोगों को लगता है कि नोटबंदी से काले धन, भ्रष्टाचार और चरमपंथ पर अंकुश लगेगा.

8 नवंबर को मोदी सरकार ने 500 और 1000 रुपये के नोट को बैन कर दिया था. इसके बाद देश भर में इसे ले कर बहस तेज़ हो गई थी.

इमेज कॉपीरइट AFP

कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, तृणमूल कांग्रेस ने सरकार का विरोध किया और फ़ैसला वापिस लिए जाने की मांग की.

जिसके बाद 22 नवंबर को मोदी ने ट्वीट कर जनता से इस विषय पर सीधे राय मांगी और सर्वे में हिस्सा लेने के लिए कहा था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे