सीएम की हवेली में बुलेटप्रूफ़ टॉयलेट भी

के. चंद्रशेखर राव
इमेज कैप्शन,

गृह प्रवेश के दौरान यज्ञ किया गया

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने बुधवार को हैदराबाद के बेगमपेट स्थित अपने नए सरकारी आवास में गृहप्रवेश किया. इसे बनाने में 50 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं.

मुख्यमंत्री के नए आवास में गृहप्रवेश के मौके पर कई धार्मिक रीति-रीवाज किए गए. धार्मिक गुरू श्री त्रिदंडी श्रीमन्नारायण चिन्ना जीयर स्वामी भी मौजूद थे.

मुख्यमंत्री ने बुधवार सुबह पांच बजकर 22 मिनट के शुभ मुहूर्त में 'गृह प्रवेश' किया.

इमेज कैप्शन,

दाहिना पैर पहले रखकर के. चंद्रशेखर राव ने किया गृह प्रवेश.

इससे पहले राव 'कैम्प ऑफिस' में रह रहे थे जिसका निर्माण संयुक्त आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री राजशेखर रेड्डी के कार्यकाल में हुआ था.

इस अवसर पर तेलंगाना के राज्यपाल और कई मंत्रियों के अलावा कई जानी मानी हस्तियां मौजूद थीं.

इस दौरान 'वास्तु पूजा', 'सुदर्शन यज्ञ' गौ पूजा और 'पूर्णाहुति' की रस्में सम्पन्न हुई.

इमेज कैप्शन,

गृह प्रवेश के दौरान गौ पूजा की गई

ये सरकारी भवन तीन हिस्सों में बंटा है, जिसमें मुख्यमंत्री का आवास और कार्यालय और एक हज़ार लोगों की क्षमता वाला ऑडिटोरियम हैं. दो बुलेटप्रूफ टॉयलेट हैं. यहां 200 कारें पार्क करने की व्यवस्था है.

इस सरकारी भवन का अहाता 850 मीटर का है.

गृहप्रवेश कार्यक्रम में हर धर्म के धर्मगुरु पहुंचे थे.

राज्य सरकार ने इस परिसर का नाम 'प्रगति भवन' रखा है.

इस नए आलीशान सरकारी भवन परिसर में 24 घंटे 55 सरकारी सुरक्षाकर्मी तैनात रहेंगे.

ये सरकारी भवन 8.9 एकड़ में बना है. मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने ग़रीबों के लिए 2.6 लाख घर बनाने का वादा किया था, लेकिन अब तक ये पूरा नहीं हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)