नोटबंदी के कारण पूरन शर्मा को काम नहीं मिल रहा था तो पैसे के लिए कराई नसबंदी

पूरन शर्मा एक ग़रीब मज़दूर हैं. नोटबंदी के कारण उन्हें काम नहीं मिल रहा था. ऐसे में उन्हें पता चला कि नसबंदी कराने से उन्हें 2000 रूपए मिल सकते हैं. वो अपनी पत्नी को ले गए नसबंदी कराने लेकिन मूक बधिर होने के कारण उनकी पत्नी की नसबंदी नहीं की गई जिसके बाद पूरन ने पैसों के लिए अपनी ही नसबंदी करा ली.