'तीन जहाज़ हवा में, तीनों के तेल ख़त्म'

ममता बनर्जी

तृणमूल कांग्रेस ने ममता बनर्जी की सुरक्षा को लेकर आज संसद के दोनों सदनों में जम कर हंगामा किया.

पार्टी का आरोप है कि जान बूझ कर उस विमान को खतरे में डालने की कोशिश की गई जिसमें ममता बनर्जी सवार थीं.

तृणमूल कांग्रेस ने ये आरोप लगाया कि इंडिगो एयरलाइंस के जिस विमान में ममता बनर्जी पटना से कोलकाता आ रही थीं उसका तेल ख़त्म हो गया था. इसके बाद भी उसे उतरने की अनुमति 30 मिनट तक एयरपोर्ट का चक्कर काटने के बाद मिली.

आपात स्थिति में जब विमान उतरा तो वहां दमकल की गाड़ियां और बचाव दल ने उसे घेर लिया.

इस मामले में तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने राज्यसभा में सवाल उठाया कि ऐसी लापरवाही कैसे हुई. इस मामले की जांच होनी चाहिए.

राज्यसभा में नागरिक उड्डयन मंत्री जयंत सिन्हा ने इस पर सदन में जवाब दिया. उन्होंने बताया कि विमान की सुरक्षा में कोई लापरवाही नहीं हुई.

जयंत सिन्हा ने कहा, "विमान एयरपोर्ट पर 13 मिनट के बाद ही उतर गया था. दो और विमानों ने कम ईंधन होने की जानकारी दी थी और उसके हिसाब से उन्हें क्रमबद्ध उतारा गया. सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई है."

जयंत सिन्हा ने इस दौरान पूरी प्रक्रिया की जानकारी सदन को दी.

उन्होंने सदन को बताया कि विमान में जब 30-40 मिनट तक एयरपोर्ट पर उड़ने और नज़दीकी एयरपोर्ट तक जाने का इंधन शेष रहता है तभी कम इंधन होने की जानकारी एयरपोर्ट को दे दी जाती है.

उन्होंने कहा, "एक साथ तीन विमान कम ईंधन की स्थिति मे एयरपोर्ट कैसे पहुंचे इसकी जांच डीजीसीए कर रहा है."

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि साथ ही इस पूरे मामले की भी जांच की जा रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)