टीवी चैनल से हुई महेश शाह की लाइव गिरफ़्तारी

महेश शाह को ले जाती पुलिस और आयकर अधिकारी

इमेज स्रोत, PTI

इमेज कैप्शन,

रियल एस्टेट कारोबारी महेश शाह को ले जाते आयकर अधिकारी और पुलिस.

कथित रूप से 13.8 हज़ार करोड़ रुपए की अघोषित आय का ब्यौरा देने वाले अहमदाबाद के रियल एस्टेट कारोबारी महेश शाह ने दावा किया है कि ये पैसा उनका नहीं है.

महेश शाह शनिवार की शाम गुजरात के स्थानीय न्यूज चैनल पर एक टीवी शो के दौरान सामने आए और उन्होंने कहा कि वो इसकी पूरी जानकारी आयकर विभाग को देंगे.

शाह ने दावा किया, "वो पैसा मेरा नहीं है. वह पैसा कई लोगों का है जिसमें नेता, बाबू और बिल्डर्स शामिल हैं."

इस शो के दौरान ही आयकर विभाग के अधिकारियों ने महेश शाह को हिरासत में ले लिया. उनको हिरासत में लिए जाने की घटना का चैनल ने लाइव प्रसारण किया.

महेश शाह इनकम डिक्लेरेशन स्कीम के तहत 13 हज़ार करोड़ से ज़्यादा की अघोषित आय की जानकारी देने के बाद से फ़रार बताए जा रहे थे.

महत्वपूर्ण है कि केंद्र सरकार की स्वैच्छिक आय घोषणा योजना के तहत 30 सितंबर तक सरकार को 45 प्रतिशत टैक्स देकर अघोषित आय घोषित की जा सकती थी.

योजना के तहत अघोषित आय पर टैक्स चुकाने के बाद आय की स्वैच्छिक घोषणा करने वाले पर आयकर विभाग की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं होनी थी.

शाह को इसके तहत इन्हें चार किस्तों में 45 प्रतिशत टैक्स भरना था.

30 नवम्बर से पहले शाह को टैक्स का पहला 25 प्रतिशत जमा करना था लेकिन मियाद खत्म होने से पहले ही आयकर विभाग ने 28 नवम्बर को ही पूरा डिस्क्लोजर रद्द कर दिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)