मौन हो गईं तमिलनाडु की अम्मा!

मुख्यमंत्री जे जयललिता का पार्थिव शरीर

सोमवार पांच दिसंबर रात 11.30 बजे तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता ने दुनिया को अलविदा कह दिया. उनके पार्थिव शरीर को राजाजी हॉल में मंगलवार शाम तक रखा जाएगा.

तिरंगे में लिपटा तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता का पार्थिव शरीर लोगों के दर्शनों के लिए बड़े हॉल में रखा गया.

बाहर अम्मा के अंतिम दर्शनों के लिए उमड़ा जनसमूह.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तमिलनाडु की दिवंगत मुख्यमंत्री को श्रद्धांजलि देने चेन्नई पहुंचे.

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता की श्रद्धाजंलि को टीवी स्क्रीन पर देखते लोग.

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता की मौत से पहले रविवार की रात उनकी सलामती के लिए मुम्बई के मंदिर में समर्थक प्रार्थना करते हुए.

अपोलो अस्पताल में जयललिता 22 सितंबर से भर्ती थीं, रविवार को उन्हें कॉर्डियक अरेस्ट के बाद आईसीयू में भर्ती कराया गया था. चेन्नई में रविवार को अस्पताल के बाहर उनकी सलामती के लिए दुआ मांगी गईं.

अम्मा की मौत के बाद हैरान-परेशान लोग.

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता के घर के बाहर बैठे लोग.

अम्मा की मौत के बाद शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए तैनात पुलिस बल.

जब जयललिता के शव को अपोलो अस्पताल से ले जाया गया तो लोग 'अम्मा अमर रहें' के नारे लगा रहे थे.

जयललिता की मौत के बाद उनके मृत शरीर को एंबुलेस में ले जाने के दौरान उनके कुछ समर्थक उनके साथ-साथ भाग रहे थे.

अपोलो अस्पताल के बाहर तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता की मौत के बाद समर्थक शोक मनाते हुए.

चेन्नई और पूरे तमिलनाडु में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया. पोयस गार्डन इलाके में भी सुरक्षा के भारी इंतज़ाम किए गए.

तमिल सिनेमा की रानी' कही जाने वाली जयललिता उन गिनी-चुनी अभिनेत्रियों में से थीं जिन्होंने बड़े पर्दे पर बोल्ड सीन किए. अम्मा का रूपहले पर्दे से लेकर राजनीति का सफ़र उतार-चढ़ावों से भरा रहा, लेकिन अपने चाहने वालों के लिए वह हमेशा अम्मा यानी मां ही रहीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)