'राहुल के मुंह से सच्चाई आखिर निकल ही गई'

  • 9 दिसंबर 2016
इमेज कॉपीरइट AFP/Getty Images

भारतीय जनता पार्टी ने राहुल के भूकंप वाले बयान पर तीखी प्रतिक्रिया दी है. भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने राहुल पर पलटवार करते हुए कहा कि काले धन पर प्रहार से जिनको "कंपकपी" आ जाती है ,वो "भूकंप" की बात ना ही करें तो अच्छा है

नोटबंदी पर संसद में आज फिर हंगामे के बीच राज्यसभा और लोकसभा के कामकाज में रुकावट आई है.

संसद के बाहर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मीडिया से कहा है, ''सरकार बहस से भाग रही है, अगर मुझे बोलने देंगे तो आप देखेंगे भूकंप आ जाएगा.'' उन्होंने कहा कि नोटबंदी हिंदुस्तान के इतिहास का सबसे बड़ा घोटाला है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने कहा, ''प्रधानमंत्री पूरे देश में भाषण दे रहे हैं मगर लोकसभा में आने से डरते हैं. इतनी घबराहट क्यों?''राहुल गांधी ने कहा, ''एक महीने से हम विमुद्रीकरण पर बहस की कोशिश कर रहे हैं, हम चाहते हैं दूध का दूध पानी का पानी हो जाए. ''

राहुल के इस बयान पर पलटवार करते हुए भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने ट्वीट किया,' आज बोलते बोलते राहुल जी के मुँह से सचाई आख़िर निकल ही गई."हम दूध का पानी बना देंगे"..ठीक बात, सही को बिगाड़ना तो कोई कांग्रेस से सीखे, काले धन पर प्रहार से जिनको "कंपकपी" आ जाती है ,वो "भूकंप" की बात ना ही करें तो अच्छा है.जो पिछले 60 सालों से घोटालों के केंद्र में रहे, वह आज भूकंप की बात कर रहे हैं.'

इमेज कॉपीरइट Twitter

यही नहीं केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राहुल पर शब्द प्रहार करते हुए कहा ,'' राहुल गांधी बहस से क्यों भाग रहे हैं? उनकी पार्टी किस दयनीय हालत में पहुंच गई है.देश का गरीब पूरी तरह सरकार के साथ है.''

इमेज कॉपीरइट VAMDEV TEWARI

राहुल के इस बयान पर केंद्रीय मंत्री वैंकेया नायडू ने तंज करते हुए कहा, 'भगवान भला करे. प्रार्थना करते हैं कि ऐसा कुछ न हो.' उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि ऐसा वह इसलिए सोच रहे होंगे क्योंकि सदन में भाजपा सदस्यों की संख्या ज्यादा है.'

नायडू ने राहुल पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि,'आखिर वह उपदेश देने वाले कौन होते हैं. 'जिनके राज में कोयला, टूजी, कॉमनवेल्थ, यूरिया और आदर्श जैसे तमाम घोटाले हुए, वे दूसरों को कैसे सीख दे सकते हैं.क्या ड्रग माफिया, ब्लैक मनी और मानव तस्करी जैसे अपराधों के खिलाफ एक्शन लेना मूर्खता है.'

इमेज कॉपीरइट AP

राहुल के भूकंप वाले बयान पर केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने चुटकी लेते हुए कहा कि,'उनके आने से कांग्रेस में ही भूकंप होता है, बाहर कुछ नहीं होता.राहुल गांधी अपने बोलने की क्षमता को कुछ ज्यादा ही समझते हैं. उनके आने से भूकंप का असर कांग्रेस में दिखता है, बाहर नहीं.'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे