प्रेस रिव्यू: 'रेप से हुए बच्चे को भी मुआवज़े का हक़'

  • 14 दिसंबर 2016
इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption बलात्कार के ख़िलाफ़ प्रदर्शन (फ़ाइल फ़ोटो)

द पायनियर में छपी ख़बर के मुताबिक़ दिल्ली हाईकोर्ट ने एक फ़ैसले में कहा है कि, "बलात्कार से पैदा हुए बच्चे को भी मुआवज़े का हक़ है."

अदालत ने कहा कि ये मुआवज़ा, बच्चे की मां को मिलने वाली राहत राशि से अलग होगा.

अदालत ने ये फ़ैसला तब सुनाया जब एक ट्रायल कोर्ट ने पाया कि रेप से पैदा हुए बच्चे के मुआवज़े संबंधी कोई भी प्रावधान पास्को एक्ट में (यौन उत्पीड़न से बच्चों के संरक्षण का अधिनियम) या दिल्ली सरकार की पीड़ित को दी जाने वाली मुआवज़े की राशि वाली योजना में है ही नहीं.

इमेज कॉपीरइट Burahn Wani FB (File)
Image caption बुरहान वानी (फ़ाइल फ़ोटो)

द इंडियन एक्सप्रेस ने पहले पन्ने पर ख़बर छापी है कि भारत प्रशासित जम्मू-कश्मीर की महबूबा मुफ़्ती सरकार सेना के साथ कथित मुठभेड़ में मारे गए ख़ालिद मुज़फ्फर वानी के परिवार को मुआवज़ा देगी. ख़ालिद, हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर बुरहान वानी के भाई थे.

बुरहान वानी भी इसी साल सेना के साथ मुठभेड़ में मारे गए थे. अख़बार के मुताबिक़ महबूबा मुफ़्ती सरकार के इस फ़ैसले से उनकी पार्टी पीडीपी और राज्य में उनकी सहयोगी भारतीय जनता पार्टी के बीच मतभेद हो गए हैं क्योंकि भाजपा राज्य सरकार के इस क़दम से नाराज़ है.

इमेज कॉपीरइट AFP/Getty

बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा को यूनीसेफ़ ने अपना वैश्विक सद्भावना दूत नियुक्त किया है. इस ख़बर को दैनिक भास्कर ने पहले पन्ने पर जगह दी है. इससे पहले वो यूनीसेफ़ की राष्ट्रीय सद्भावना दूत रह चुकी हैं.

द हिंदू में छपी ख़बर के मुताबिक़ यूपीए सरकार में गृहमंत्री रहे पी चिदंबरम ने नरेंद्र मोदी सरकार के नोटबंदी को साल का सबसे बड़ा घोटाला बताया है. अख़बार के मुताबिक़ पी चिदंबरम ने कहा कि ऐसा कोई भी देश ठीक से चल नहीं सकता जिसकी 86 प्रतिशत करेंसी को बंद कर दिया गया हो.

अमर उजाला के मुताबिक़ नोटबंदी के बाद से कई बैंकों में अनियमितताओं की ख़बर के बाद रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया (आरबीआई) ने सभी बैंकों से आठ नवंबर से 31 दिसंबर तक के सीसीटीवी फ़ुटेज सुरक्षित रखने को कहा है. अख़बार के मुताबिक़ ये फ़ुटेज देखें जाएंगे ताकि पता लगाया जा सके कि कोई अनियमितता तो नहीं हुई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे