नोटबंदी के बाद पहली बार एटीएम में आया पैसा

डांग में एक एटीएम

इमेज स्रोत, Laxman Bagul

गुजरात राज्य में भारत के सबसे पिछड़े इलाक़ों में से एक है डांग ज़िला जिसपर नोटबंदी का असर साफ़ दिखा है.

नोटबंदी की घोषणा के बाद से इस इलाक़े के ज़िला मुख्यालय आहवा में सरकारी बैंक का एक एटीएम बंद पड़ा था.

8 नवंबर को मोदी सरकार ने नोटबंदी की घोषणा की थी, जिसके बाद देश के सभी बैंकों और एटीएम के सामने लाइनें देखना आम बात हो गई थी.

लेकिन डांग में बैंक ऑफ़ बड़ौदा के इस एटीएम के सामने कोई लाइन नहीं लगी, क्योंकि इसमें कभी पैसा आया ही नहीं.

इमेज स्रोत, Laxman Bagul

21 दिसंबर को जब बीबीसी की टीम इस ब्रांच पहुँची तो बैंक कर्मचारियों ने इस बात को माना और बताया कि, "पीछे से करेंसी नोट नहीं पूरे पड़ रहे इसलिए ये बंद पड़ा है."

बीबीसी हिंदी के संवंददाता नितिन श्रीवास्तव ने इस एटीएम के सामने से फ़ेसबुक लाइव किया. वीडियो देखिए यहां.

इसके दो घंटे बाद ही इसे जनता के लिए लिए खोल दिया गया.

इमेज स्रोत, Laxman Bagul

डांग ज़िले में 85 फीसदी से ज़्यादा आबादी आदिवासियों की है और इलाके की ढाई लाख आबादी के लिए क़रीब सात एटीएम और ग्यारह बैंकों की शाखाएँ हैं.

इमेज स्रोत, Nitin Srivastava

इमेज कैप्शन,

दोपहर के 1 बजे इस एटीएम के सामने कुछ ऐसा नज़ारा था

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)