नवीन पटनायक को काले दुपट्टे से डर क्यों?

  • सुब्रत कुमार पति
  • भुवनेश्वर से बीबीसी हिन्दी डॉट कॉम के लिए
ओडिशा
इमेज कैप्शन,

दुपट्टा रखती एक महिला

क्या ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक को आजकल महिलाओं के काले रंग के कपड़ों से डर लग रहा है?

पिछले कुछ समय से मुख्यमंत्री की जनसभाओं में काले दुपट्टे पहनकर जाती महिलाओं को रोकने की घटनाएँ हुई हैं. इसके विरोध में अब राज्य में कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं.

इमेज कैप्शन,

पुलिस बाहर ही ले रही है दुपट्टा

बरगड़ में छह नवंबर को काले दुपट्टे वाली महिलाओं को जनसभा से निकालने के लिए कहा गया था. पांच दिसंबर को सुंदरगढ़ में भी पुलिस ने मुख्यमंत्री की जनसभा शुरू होने से पहले काले दुपट्टे को छीन लिया था.

पुलिस की इस कार्रवाई के ख़िलाफ़ कांग्रेस और बीजेपी ने विधानसभा में हंगामा भी किया था. प्रदेश सरकार के इस रुख के ख़िलाफ़ कांग्रेस ने सुंदरगढ़ को बंद रखा था. कांग्रेस महिला मोर्चा ने इस मामले की पुलिस में शिकायत भी की थी.

बाद में ख़ुद मुख्यमंत्री ने घटना पर दुःख जताते हुए प्रदेश के पुलिस महानिदेशक को ऐसी घटनाएँ नहीं होने देने का निर्देश दिया.

इमेज कैप्शन,

जनसभा स्थल के बाहर रखे दुपट्टे

मुख्यमंत्री के निर्देश के बावजूद गुरुवार को एक बार फिर से ऐसा ही वाकया देखने को मिला. प्रदेश में इसे लेकर सियासी सरगर्मी बढ़ गई है.

कांग्रेस नेता और विधायक तारा प्रसाद वाहिनीपति ने कहा कि इस मामले में पटनायक दोहरा मापदंड अपना रहे हैं. उन्होंने कहा कि एक तरफ वह पुलिस की कार्रवाई पर दुःख जता रहे हैं और दूसरी तरफ हर बार इसे अंज़ाम दिया जा रहा है. कांग्रेस ने कहा ऐसा मुख्यमंत्री के इशारे पर ही हो रहा है.

इमेज कैप्शन,

ओडि़शा के सीएम नवीन पटनायक

दूसरी तरफ ओडिशा पुलिस का कहना है कि ऐसा सुरक्षा कारणों से किया जा रहा है.

बीजू जनता दल के प्रवक्ता रवि नारायण नंद ने कहा कि विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है इसलिए वो फ़र्ज़ी आरोपों को गढ़ रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)