एडिटर्स पिक: ये 10 बातें आपसे मिस तो नहीं हो गईं?

  • मुकेश शर्मा
  • संपादक, बीबीसी हिंदी
नई दिल्ली

इमेज स्रोत, EPA

नोटबंदी का एक और हफ़्ता गुज़र गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस नेता राहुल गाँधी के तीखे बयानों ने सुर्ख़ियाँ बनाईं.

इन सबके बीच चर्चा गर्म हो चली है उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव की. अटकलबाज़ियाँ ज़ोरों पर हैं इसलिए इस हफ़्ते हमने चार ख़ास नज़रिए आपके सामने रखे.

जिस तरह समाजवादी पार्टी कुनबे में बीते कुछ समय से तक़रार की ख़बरें सामने आ रही थीं उसके बाद एक नज़र इस बात पर कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव चुनाव को लेकर किस तरह की रणनीति अपना रहे हैं-

इमेज स्रोत, Reuters

साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी ने जिस तरह बाक़ी पार्टियों का पत्ता साफ़ किया उसके बाद तो ऐसा लगा था कि राज्य में विधानसभा चुनाव बीजेपी के लिए 'केक वॉक' होने चाहिए. मगर क्या सचमुच ऐसे हालात हैं-

इमेज स्रोत, EPA

यूपी में लोकसभा चुनाव में भले ही बहुजन समाज पार्टी एक भी सीट नहीं जीत पाई हो मगर मायावती की राजनीतिक ताक़त को कम करके आँकने की भूल शायद ही कोई करेगा. ऐसे में विधानसभा चुनाव से पहले मायावती की बसपा की स्थिति क्या है-

इमेज स्रोत, Reuters

कांग्रेस पिछले कई चुनाव से उत्तर प्रदेश की राजनीति में हाशिए की पार्टी बनकर रह गई है. पार्टी नेता राहुल गाँधी ने इस बार पार्टी में चुनाव से पहले काफ़ी जोश भरने की कोशिश की है. एक आकलन उनकी इन कोशिशों की ज़मीनी हक़ीक़त का-

इमेज स्रोत, Getty Images

लोग उत्तर प्रदेश चुनाव में नोटबंदी के असर की अटकलें लगा रहे हैं. इस बीच बीबीसी संवाददाता नितिन श्रीवास्तव ने बीते हफ़्ते गुजरात से इससे जुड़ी कुछ ख़ास रिपोर्टें आपके सामने रखीं. उन्होंने सूरत में हीरा कारोबार में लगे कारीगरों के साथ FB LIVE में एक ख़ास बातचीत की.

इस हफ़्ते पाकिस्तान में भारतीय फ़िल्मों पर लगा बैन हट गया. भारतीय फ़िल्मों की दीवानगी पाकिस्तान में कम नहीं है और शायद यही वजह है कि इस रोक के चलते पाकिस्तान में सिनेमा हॉल मालिकों को काफ़ी नुक़सान उठाना पड़ा.

इमेज स्रोत, AP

सोवियत संघ के विघटन के इस हफ़्ते 21 दिसंबर को 25 साल पूरे हो गए. मिख़ाइल गोर्बाचोफ़ वो शख़्स थे जिनके सामने सोवियत संघ टूटा. बीबीसी संवाददाता स्टीवन रोज़ेनबर्ग की गोर्बाचोफ़ से मुलाक़ात इस हफ़्ते आप लोगों ने काफ़ी पसंद की-

इमेज स्रोत, AFP

इमेज कैप्शन,

मिख़ाइल गोर्बाचोफ़ अब बहुत कम मीडिया से बात करते हैं.

क्या आपने कभी सोचा है कि सुबह उठकर हम हर बार अपने सपने याद नहीं रख पाते. इसी पर इस हफ़्ते थी बीबीसी की एक ख़ास रिपोर्ट जिसमें बताया गया इन चार सपनों के बारे में जिन्हें हम कभी नहीं भूल पाते.

इमेज स्रोत, Thinkstock

गर्भनिरोध के कई तरीक़े इस समय मौजूद है मगर इस बात की चर्चा वैज्ञानिक जगत या आम लोगों के बीच भी होती रहती है कि आख़िर गर्भनिरोधक गोलियों का कितना असर पड़ता है उन्हें इस्तेमाल करने वालों पर-

इमेज स्रोत, Thinkstock

और चलते-चलते आपको दिखाना चाहते हैं ताज महल के नज़ारे कुछ उस ऐंगल से जहाँ से उसे ख़ुद शाहजहाँ तक ने नहीं देखा होगा. आप ज़रूर देखिए-

इमेज स्रोत, AFP

छोड़कर पॉडकास्ट आगे बढ़ें
पॉडकास्ट
विवेचना

नई रिलीज़ हुई फ़िल्मों की समीक्षा करता साप्ताहिक कार्यक्रम

एपिसोड्स

समाप्त

आप बीबीसी हिंदी की ख़बरों, विश्लेषणों या विशेष चर्चाओं के बारे में अपनी राय देते रहिए हमारे फ़ेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब, इंस्टाग्राम या सोशल मीडिया के अन्य माध्यमों पर.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)