गधे का प्रचार न करें सदी के महानायक: अखिलेश

अखिलेश यादव, मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश

इमेज स्रोत, Getty Images

उत्तर प्रदेश में चुनावी पारा दिनों-दिन ऊपर चढ़ता जा रहा है. नेता बयानबाज़ी में भी एक-दूसरे को पीछे छोड़ने की जैसे होड़ में हैं.

इसी क्रम में एक चुनाव रैली में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा, "मैं सदी के महानयाक से अपील करूंगा कि वे गुजरात के गधों का विज्ञापन न करें."

बॉलीवुड के सुपर स्टार अमिताभ बच्चन ने गुजरात के वन्य गधा अभयारण्य के लिए एक विज्ञापन में काम किया है. वे इसमें अभयारण्य के बारे में बताते हैं, गधों के बारे में बताते हैं और लोगों से वहां जाने, घूमने-फिरने की अपील करते हैं.

'गुजरात वाले गधों का भी विज्ञापन करते हैं'

इमेज स्रोत, Getty Images

अमिताभ बच्चन समाजवादी पार्टी के काफ़ी नज़दीक रह चुके हैं. उनकी पत्नी जया बच्चन समाजवादी पार्टी की ओर से राज्यसभा सांसद हैं.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा, "क्या आपने कभी गधों के विज्ञापन के बारे में सुना है? गुजरात के लोग गधों का विज्ञापन कर रहे हैं. लेकिन वे मुझ पर सिर्फ़ क़ब्रिस्तान के लिए काम करने का आरोप लगाते हैं."

अखिलेश यादव तंज करते हैं, "गुजरात के लोग तो गधों का भी प्रचार करते हैं. इसी विज्ञापन में कहा गया है कि अगली बार आपको कोई गधा कहे तो आप बुरा मत मानिएगा. यह शहर वाला गधा नहीं है जो कुछ सोचता रहता है. इसके पास इसके लिए फ़ुर्सत नहीं. यह सर्वगुण संपन्न है."

बुरा न मानो होली है

इमेज स्रोत, Reuters

अखिलेश इसके आगे विज्ञापन के बारे में बताते हैं कि इसमें कहा गया है कि किसी को गधा कहना या गधा होना कोई बुरी बात नहीं है. यादव बताते हैं कि ख़ुद गुजरात के लोग यह कह रहे हैं.

अखिलेश आगे जोड़ते हैं कि होली में मजाक करने की परंपरा है. इसलिए उनकी बातों का बुरा किसी को नहीं मानना चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)