दिमाग के ऑपरेशन के दौरान गिटार बजाता रहा मरीज़

  • इमरान कुरैशी
  • बीबीसी हिंदी के लिए
अभिषेक प्रसाद

इमेज स्रोत, PTI

बेंगलुरु में ऑपरेशन टेबल पर अपने हाथों से गिटार बजाते हुए अभिषेक डॉक्टरों को अपनी उंगलियों में आई मांसपेशियों के ऐंठन की इलाज़ में मदद करता रहा. इस इलाज़ की ख़ास बात ये थी कि उनके दिमाग का ऑपरेशन किया गया.

अभिषेक प्रसाद ने गिटार बजाने के अपने शौक़ की वजह से अपनी नौकरी छोड़ दी थी. वो एक पेशेवर गिटार बजाने वाले बनना चाहते थे.

लेकिन नौकरी छोड़ने के 20 महीने के बाद उन्हें महसूस किया कि उनकी बीच की उंगली और छोटी वाली उंगली गिटार बजाते वक्त तन जाती है.

वो कई डॉक्टरो से मिले. सब ने अलग-अलग तरह की दर्द और विटामिन की दवाइयां दीं. इसके बाद वो डॉक्टर शरण श्रीनिवासन के पास पहुँचे.

डॉक्टर शरण श्रीनिवासन भगवान महावीर जैन अस्पताल में न्यूरोसर्जन हैं. उन्होंने अभिषेक के ब्रेन के सर्किट का लाइव ऑपरेशन करने का फ़ैसला लिया.

कितना मुश्किल था ऑपरेशन

इसका मायने ये हुआ कि अभिषेक को पूरी तरह से बेहोश करने की जगह सिर्फ सुन्न किया गया था. ऑपरेशन के लिए उनके मस्तिष्क में 14 मिलीमीटर का एक छेद किया था. उनके मस्तिष्क में 8-9 सेंटीमीटर गहराई तक जाकर टारगेट लोकेशन पर सर्किट को सही करना था.

इस पूरी सर्जरी के दौरान अभिषेक गिटार बजाते रहे क्योंकि उनकी समस्या गिटार बजाने के समय से ही जुड़ी थी.

इमेज स्रोत, IMRAN QURESHI

इसलिए गिटार बजाते वक्त उनके दिमाग के अंदर की हरकतों पर डॉक्टरों को नज़र रखनी थी. ऑपरेशन के दौरान ही उन्हें इस समस्या से पूरी तरह से छुटकारा मिलने का एहसास हुआ.

यह पूरी दुनिया में आठवीं बार ऐसा है जब संगीत की जटिलता से जुड़े किसी दिमाग के समस्या का इस तरह से ऑपरेशन किया गया है. लेकिन भारत में ऐसा पहली बार हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)