सरकारी अस्पताल में डॉक्टरों से सवाल- आप वर्जिन हैं?

  • 3 अगस्त 2017
डॉक्टर इमेज कॉपीरइट Getty Images

बिहार की राजधानी पटना में स्थित इंदिरा गाँधी आयुर्विज्ञान संस्थान (आईजीआईएमएस) अपने नवनियुक्त चिकित्सकों के लिए जारी वैवाहिक घोषणा को लेकर चर्चा में है.

इसमें नवनियुक्त चिकित्सकों से वैवाहिक स्थितियों को लेकर उनकी वर्जिनिटी (कौमार्यता) की जानकारी भी मांगी गई है.

दरअसल, यह मामला हाल में चयनित संविदा चिकित्सकों से उनके वैवाहिक जीवन से जुड़े 'वैवाहिक घोषणा' के कॉलम से सामने आया है, जिसमें शादीशुदा, विधुर या अविवाहित होने के साथ-साथ उनके वर्जिनिटी की जानकारी भी मांगी जा रही है.

इस संबंध में संस्थान के अधीक्षक डॉ. मनीष मंडल ने कहा कि संस्थान सेंट्रल सर्विसेज रूल के तहत काम करती है.

ट्यूनीशिया: सेक्स के बाद वर्जिन बनने को मजबूर हैं लड़कियां

वीडियोः जापान में सेक्स के प्रति घटती रुचि चिंताजनक है?

उन्होंने कहा, "जो पैटर्न एम्स, दिल्ली में लागू है हम उसी का अनुसरण करते हैं. जिस घोषणा पत्र पर आज सवाल उठाया जा रहा है, वह वर्ष 1984 से ही भरा जा रहा है."

वो कहते हैं, "वैवाहिक घोषणा पत्र में उल्लेखित वर्जिन शब्द का अर्थ हिंदी में अविवाहित या कुँवारी कन्या है. यह शब्द आपत्तिजनक नहीं है."

घोषणा पत्र में वर्जिन शब्द को लेकर उठे विवाद पर संस्थान में गुर्दा विभाग के वरीय चिकित्सक डॉ. हर्षवर्धन का कहना है कि 'यह कोई मुद्दा ही नहीं है. बहस राज्य की बदहाल चिकित्सा सेवा की बेहतरी पर होनी चाहिए.'

वहीं, संस्थान की एक महिला डॉक्टर ने नाम न ज़ाहिर करते हुए कहा, "जब घोषणा में अविवाहित होने की जानकारी मांगी जा रही है तो, उसके साथ कौमार्यता की जानकारी मांगने का क्या औचित्य है?"

इमेज कॉपीरइट IGIMS

उन्होंने कहा कि वैवाहिक घोषणा में बदलाव किया जाना चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए