चंडीगढ़: 10 साल की रेप पीड़िता बच्ची बनी मां

  • 17 अगस्त 2017
रेप इमेज कॉपीरइट iStock

चंडीगढ़ में 10 साल की रेप पीड़िता ने बच्ची को जन्म दिया है.

चंडीगढ़ के सरकारी अस्पताल में गुरुवार की सुबह बच्ची का जन्म हुआ. बच्ची का वजन ढाई किलो है. अस्पताल के एक अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि मां और बच्ची स्वस्थ हैं.

इससे पहले, रेप पीड़िता के परिजनों ने गर्भपात कराने के लिए सुप्रीम कोर्ट में अर्जी डाली थी लेकिन कोर्ट ने उसे ठुकरा दिया था.

सुप्रीम कोर्ट ने मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट पर यह फ़ैसला दिया था जिसमें कहा गया था कि गर्भपात ना तो उस लड़की के लिए ठीक होगा और न ही उसके गर्भ में पल रहे शिशु के लिए.

आरोप है कि 10 साल की उस बच्ची के साथ उसके करीबी रिश्तेदार ने ही रेप किया था. मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी एक्ट के तहत कोर्ट 20 हफ़्ते के गर्भ में ही गर्भपात की अनुमति देता है.

भ्रूण असामान्य होने की सूरत में अपवाद स्वरूप 20 हफ़्ते के बाद भी गर्भपात की अनुमति दी जाती है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक जो रेप पीड़िता बच्ची मां बनी है उसे नहीं पता है कि उसके साथ क्या हुआ है. उसे नहीं पता है कि वह गर्भवती थी और अब मां बनी है.

रेप के बाद गर्भवती हुई बच्ची की

10 साल की रेप पीड़िता को नहीं मिली गर्भपात की अनुमति

इमेज कॉपीरइट SCIENCE PHOTO LIBRARY

पीड़ित बच्ची को माता-पिता ने बताया है कि उसके पेट में समस्या थी इसलिए डॉक्टरों ने सर्जरी की है.

पीटीआई के मुताबिक रेप पीड़िता बच्ची के पिता ने अस्पताल से कहा है कि वो नवजात को किसी को गोद दिलवाने में मदद करे.

आरोप है कि बच्ची के साथ उसके करीबी रिश्तेदार ने ही लगातार रेप किया था. उसके माता-पिता ने पेट में दर्द की शिकायत पर हॉस्पिटल में भर्ती कराया था. इसी दौरान डॉक्टरों को पता चला था कि वह बच्ची 30 हफ़्तों से गर्भवती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे