बिहार में बाढ़ से मरने वालों का आंकड़ा 200 के पार

  • मनीष शांडिल्य
  • पटना से, बीबीसी हिंदी के लिए
बिहार बाढ़

इमेज स्रोत, Getty Images

बिहार में बाढ़ से मरने वालों की संख्या दौ सौ का आंकड़ा पार कर गई है. बाढ़ से प्रभावित आबादी का आंकड़ा भी करीब एक करोड़ बीस लाख पहुंच गया है.

बिहार सरकार के आपदा प्रबंधन विभाग ने आंकड़े जारी किए जिनके मुताबिक बीते चैबीस घंटों में इस आपदा से 49 और लोगों की मौत हो गई. इसके साथ ही इस साल की बाढ़ से बिहार में मरने वालों की संख्या बढ़कर 202 हो गई है.

बीते चैबीस घंटों में सबसे ज्यादा मौतें सीतामढ़ी, अररिया, पश्चिम चंपारण और दरभंगा जिलों में हुईं. सीतामढ़ी में अठारह, अररिया में बारह जबकि पश्चिम चंपारण और दरभंगा में छह-छह लोगों की मौत बाढ़ के चपेट में आने से हुई.

इमेज स्रोत, AFP/Getty Images

इमेज कैप्शन,

बिहार के पुर्णिया ज़िले में राहत शिविरों में रह रहे बच्चे

अभी सूबे के आधे से अधिक 20 जिले बाढ़ की चपेट में है. बाढ़ से करीब चैदह हजार मकान पूरी तरह क्षतिग्रस्त हुए हैं.

राज्य सरकार की तरफ़ से अभी तक करीब छह लाख पच्चीस हजार प्रभावित लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है.

बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए राज्य सरकार अभी 1336 राहत शिविर चला रही है जिसमें करीब सवा चार लाख लोगों ने शरण ली है.

साथ ही पांच जिलों में वायु सेना के हेलीकॉप्टर भी सूखा राशन गिरा रहे हैं.

इमेज स्रोत, Getty Images

राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का मुआयना करने के बाद अररिया और पूर्वी चंपारण के कई हिस्सों में खाद्य सामग्री को हेलीकॉप्टर के ज़रिए पहुंचाने का आदेश दिया है.

इमेज स्रोत, AFP/Getty Images

इमेज कैप्शन,

बिहार के पूर्णिया ज़िले में बाढ़ में टूटे पुल को पार करते हुए गांव वाले

बाढ़ से प्रभावित इलाक़ों में लोगों की संपत्ति के हुए नुकसान का अभी कोई अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता.

इमेज स्रोत, Getty Images

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)