प्रद्युम्न की मौत पर कोर्ट ने मांगा सरकार से जवाब

  • 11 सितंबर 2017
इमेज कॉपीरइट Getty Images

गुरुग्राम के रायन इंटरनेशनल स्कूल में बच्चे प्रद्युम्न की मौत के मामले में सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका पर सुनवाई हुई. सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और हरियाणा सरकार, सीबीएससी और दूसरे संबंधित लोगों को नोटिस जारी करके तीन हफ्तों में जवाब तलब किया है.

मामले की सुनवाई के बाद मृतक बच्चे के पिता के वकील सुशील ठेकरीवाल ने कहा, ''सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों को तीन हफ्तों में जवाब देने को कहा है. जो जवाब आएगा उसके बाद सुप्रीम कोर्ट कोई कदम उठाएगा.''

ठेकरीवाल बच्चे के पिता वरुण चंद ठाकुर के पिता भी हैं. वरुण के सात साल के बेटे की मौत पिछले हफ्ते दिल्ली से सटे शहर गुरुग्राम के एक प्राइवेट स्कूल में हो गई थी. पुलिस ने हत्या के आरोप में अशोक कुमार नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है जो बच्चों को लाने-ले जाने वाली बस में कंडक्टर का काम करता था.

स्कूल बस कंडक्टर ने हत्या से पहले की थी यौन शोषण की कोशिश

रायन स्कूल से पहले भी हिंसा के शिकार हुए छात्र

इमेज कॉपीरइट Getty Images

'तय हो जवाबदेही'

आरोप हैं कि कंडक्टर ने बच्चे के साथ स्कूल टॉयलट में यौन शोषण की कोशिश की और बच्चे के विरोध करने पर चाकू से उसकी हत्या कर दी. सुशील ठेकरीवाल के मुताबिक़, ''सुप्रीम कोर्ट में दाख़िल याचिका में मांग की गई थी कि कोई ऐसी व्यवस्था क़ायम हो जिसमें इस तरह के मामलों में जवाबदेही तय हो सके.''

उन्होंने कहा, ''हमने ये मांग की थी कि सुप्रीम कोर्ट इस पर दिशा निर्देश जारी करे और इस पर आयोग या ट्राइब्यूनल का गठन हो जो स्वतंत्र रूप से ऐसे मामलों में तुरंत जवाबदेही तय करे और ऐक्शन ले. साथ ही हमने पूरे मामले की सीबीआई से जांच कराने की भी मांग की है.''

मर्डर के बाद रायन स्कूल की गुरुग्राम शाखाओं को बंद कर दिया गया है. स्कूल प्रशासन के दो लोगों को गिरफ्तार किया गया जिन्हें सोमवार को सोहना की एक अदालत ने दो दिनों के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है.

इसके अलावा, स्कूल की प्रिंसिपल से पुलिस पूछताछ कर रही है. पुलिस की एक टीम रायन ग्रुप के सीईओ और दूसरे लोगों से पूछताछ के लिए मुंबई गई है.

इमेज कॉपीरइट RYANINTERNATIONALSCHOOLS.COM

सीएम ने की बात

हरियाणा के शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने पहले कहा था कि स्कूल मैनेजमेंट और स्कूल मालिकों के खिलाफ़ जुवेनाइल ऐक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है.

राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने ख़ुद मृतक छात्र के पिता से बात की. इस बातचीत को लेकर वरुण चंद ठाकुर ने कहा, ''उनसे भी पूरे सहयोग की उम्मीद है. उनका रुख सकारात्मक रहा है. वह भी घटना को लेकर उतने ही संजीदा हैं जितना सब लोग.''

इस बीच गुरुग्राम प्रशासन के ज़रिए बनाई गई एक टीम ने डिप्टी कमिश्नर विनय प्रताप सिंह को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है जिसमें स्कूल की सुरक्षा व्यवस्था के बारे में बताया गया है.

इस तरह के सवाल उठ रहे थे कि क्या स्कूल में बाहर के स्टाफ़ जैसे कंडक्टर, ड्राइवर वगैरह के लिए अलग से टॉयलेट नहीं था जो वो बच्चे के सेक्शन में घुस पाया. साथ ही कहा जा रहा है कि परिसर में लगे कई सीसीटीवी कैमरे काम नहीं कर रहे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे