पाकिस्तान लश्कर, जैश के ख़िलाफ़ कार्रवाई करे: शिंज़ो आबे

शिंज़ों आबे और नरेंद्र मोदी

इमेज स्रोत, Getty Images

भारत और जापान ने गुरुवार को पाकिस्तान से आतंकवाद के ख़िलाफ़ सख़्त रुख अपनाने के कहा है. दोनों देश अलक़ायदा, जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा जैसे चरमपंथी संगठनों के ख़िलाफ़ एकजुट लड़ाई के लिए राज़ी हुए हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके जापानी समकक्ष शिंज़ो आबे ने अपने साझा बयान में पाकिस्तान से मुंबई (2008) और पठानकोट (2016) में हुए चरमपंथी हमलों के साजिशकर्ताओं को जेल में डालने के लिए कहा.

दोनों नेताओं ने सभी देशों से आतंकवाद के ख़िलाफ़ एकजुट होने और मज़बूती से लड़ने की अपील की.

दोनों ओर से जारी साझा बयान में कहा गया कि भारत-जापान आतंकवाद के ख़िलाफ़ पांचवें साझा आयोजन में अलक़ायदा, इस्लामिक स्टेट, जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा जैसे चरमपंथी संगठनों के ख़िलाफ़ लड़ाई में एक-दूसरे का सहयोग बढ़ाने पर राजी हुए हैं.

इमेज स्रोत, Getty Images

बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट

इसके पहले भारत के तीन दिवसीय दौरे पर आए जापान के प्रधानमंत्री ने अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलने वाली पहली बुलेट ट्रेन के प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया.

भारत के पहले बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट की फंडिंग जापान से लिए गए 17 बिलियन डॉलर (करीब 1088 अरब रुपये) के कर्ज़ से होगी. 750 सीटों वाली इस ट्रेन के अगस्त 2022 तक चलने की उम्मीद है.

दोनों शहरों के बीच 500 किलोमीटर दूरी बुलेट ट्रेन से 3 घंटे में तय होगी. रास्ते में 12 स्टेशन पड़ेंगे. इसका यात्रा में 7 किलोमीटर हिस्सा समंदर के नीचे बनी सुरंग से होकर जाएगा.

जापान के प्रधानमंत्री शिंज़ो अबे बुधवार को अहमदाबाद पहुंचे तो प्रधानमंत्री मोदी ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया. उन्हें साथ लेकर पीएम मोदी न सिर्फ एयरपोर्ट से लेकर साबरमती आश्रम तक रोड शो किया बल्कि ऐतिहासिक सिदी सईद मस्जिद की सैर भी कराई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)