तमिलनाडु में दिनाकरण समर्थक 18 विधायक अयोग्य घोषित

  • 18 सितंबर 2017
तमिलनाडु इमेज कॉपीरइट Twitter @OfficeOfOPS
Image caption बर्खास्त विधायक मुख्यमंत्री पलनीस्वामी और पूर्व मुख्यमंत्री पन्नीरसेल्वम का विरोध कर रहे थे

तमिलनाडु विधानसभा अध्यक्ष ने सोमवार को दल बदल विरोधी कानून के तहत दिनाकरण गुट के 18 विधायकों की सदस्यता रद्द कर दी है.

अन्नाद्रमुक के ये विधायक शशिकला के समर्थक थे और मुख्यमंत्री पलनीस्वामी और पूर्व मुख्यमंत्री पन्नीरसेल्वम का विरोध कर रहे थे.

अन्नाद्रमुक के पलनीस्वामी और पन्नीरसेल्वम धड़े के मिल जाने के बाद पार्टी के 19 विधायकों ने तमिलनाडु के राज्यपाल सी विद्यासागर राव से मिलकर मुख्यमंत्री पलनीस्वामी की सरकार से समर्थन वापस लेने की चिट्ठी सौंपीं थी.

सिंहासन चाहनेवाली शशिकला का सियासी पटाक्षेप?

क्या मोदी ने सहयोगी दलों को बेदख़ल कर दिया है?

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption तमिलनाडु के वित्तमंत्री डी जयकुमार ने 19 अप्रैल को शशिकला और टीटीवी दिनाकरण को अन्नाद्रमुक से अलग करने के फ़ैसला के बारे में घोषणा की थी

18 सदस्यों को अयोग्य ठहराये जाने के बाद अन्नाद्रमुक विधायकों की संख्या घटकर 116 हो गई और 234 सदस्यों वाली तमिलनाडु विधानसभा में विधायक संख्या 215 हो गई है.

पूर्वमुख्यमंत्री जयललिता के निधन के बाद उनकी आरके नगर की सीट अभी भी खाली है.

बहुमत के गणित के लिहाज से भी मुख्यमंत्री पलनीस्वामी के लिए ये सहज स्थिति कही जा सकती है.

एआईएडीएमके के दोनों धड़ों का विलय, 7 फैसले

एआईडीएमके में सुलह क्यों कराना चाहते हैं मोदी?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे