आरुषि हत्याकांड में तलवार दंपति बरी

  • 12 अक्तूबर 2017
तलवार दंपत्ति इमेज कॉपीरइट PTI

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आरुषि हत्याकांड में तलवार दंपति को बरी कर दिया है.

मामले से जुड़े वकील एके निगम ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि इलाहाबाद हाई कोर्ट ने तलवार दंपति की अपील मंजूर कर ली है.

अभी तक कोर्ट के फ़ैसले की तफसील से जानकारी सामने नहीं आई है, लेकिन उनकी उम्र कैद की सजा रद्द हो गई है.

तलवार दंपति फ़िलहाल ग़ाज़ियाबाद स्थित डासना जेल में बंद हैं.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
तलवार दंपति पर क्या फ़ैसला?

इलाहाबाद में मौजूद स्थानीय पत्रकार समीरात्मज मिश्र के मुताबिक़ हाई कोर्ट ने कहा कि तलवार दंपति को संदेह का लाभ मिलना चाहिए.

इस मामले में तलवार दंपति को परिस्थितिजन्य साक्ष्यों के आधार पर सीबीआई कोर्ट ने दोषी ठहराया था.

इससे पहले 25 नवंबर 2013 को सीबीआई कोर्ट ने तलवार दंपति को उम्रकैद की सज़ा सुनाई थी उसके बाद दोनों गाज़ियाबाद की डासना जेल में सज़ा काट रहे थे.

आरुषि केस: कब-कब क्या हुआ

आरुषि केसः सीबीआई जांच पर उठाए 7 सवाल

इमेज कॉपीरइट FIZA

क्या है मामला

डेंटिस्ट राजेश तलवार की 14 साल की बेटी आरुषि तलवार और नौकर हेमराज की हत्या 15-16 मई 2008 की दरमियानी रात नोएडा स्थित उनके घर पर हुई थी.

आरुषि अपने कमरे में मृत पाई गई जबकि एक दिन बाद नौकर हेमराज का शव तलवार के पड़ोसी की छत से बरामद हुआ था.

इस मामले में कई मोड़ आए, सीबीआई जांच हुई जिसमें 30 महीने बाद क्लोज़र रिपोर्ट पेश की गई.

मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा और इसके आदेश पर फिर से मामला शुरू हुआ और सीबीआई अदालत ने तलवार दंपत्ति को आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई.

इस फैसले के ख़िलाफ़ ही उन्होंने हाईकोर्ट में अपील की थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे