अयोध्या पर जल्द ही ख़त्म हो जाएगी आशंका: योगी

  • 18 अक्तूबर 2017
योगी आदित्यनाथ इमेज कॉपीरइट Twitter

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अयोध्या को लेकर लोगों की आशंका जल्द ख़त्म हो जाएगी. उन्होंने कहा कि अयोध्या को अपने ही देश में कुछ लोग शक की निगाह से देखते हैं.

दिवाली के एक दिन पहले अयोध्या पहुंचे मुख्यमंत्री ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ''अयोध्या को कुछ लोग लोग आशंका की नज़र देखते हैं. अब अयोध्या पर शक की प्रवृत्ति ख़त्म होनी चाहिए.''

हालांकि योगी ने आशंका की बात को लेकर किसी तरह की व्याख्या नहीं की लेकिन समझा जाता है कि या तो उनका इशारा मंदिर निर्माण को लेकर था, या सरकार मसले को बातचीत के ज़रिये सुलझाने की कोशिश कर रही होगी.

योगी आदित्यनाथ ने कुछ ही दिन पहले कहा था कि वो अयोध्या में राम की विशाल मूर्ति बनाना चाहते हैं. ऐसे में दिवाली के बहाने अयोध्या में उन गतिविधियों को जिसमें योगी शामिल हुए महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

दिवाली मनाने अयोध्या में होंगे योगी आदित्यनाथ

क्या हैं अयोध्या पर मोदी सरकार के रुख़ के मायने?

'ताजमहल भारत मां के सपूतों की कमाई से बना': योगी आदित्यनाथ

इमेज कॉपीरइट Twitter

बुधवार को योगी ने राम का भेष धारण किए एक शख्स का स्वागत किया. इसके साथ ही अयोध्या में हज़ारों दीप जलाए गए. इस मौक़े पर राम, सीता और लक्ष्मण के रूप में तीन लोग सरयू नदी के तट पर सरकारी हेलिकॉप्टर से उतरे.

इन तीनों की योगी ने आगवानी की. योगी के साथ प्रदेश की पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी और राज्यपाल राम नाईक भी मौजूद थे. कहा जा रहा है कि सरयू नदी के तट पर 1.75 लाख दिए जलाए गए हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा, ''प्रदेश में पुरातत्व के लिहाज से महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों को विकसित किया जाएगा ताकि पर्यटकों का ध्यान आकर्षित किया जा सके. राम का महत्व केवल भारत में ही नहीं बल्कि थाईलैंड, इंडोनेशिया और श्रीलंका जैसे देशों में भी है. मैं थाईलैंड गया था और वहां देखा कि सड़कों का नाम भी राम से है.''

इमेज कॉपीरइट Getty Images

योगी ने आगे कहा, ''थाईलैंड के राजा राम को अपना पूर्वज बताते थे. इंडोनेशिया दुनिया का सबसे बड़ा मुस्लिम देश है और वहां की रामलीला काफ़ी प्रसिद्ध है. हमने वहां की रामलीला टीम भी बुलाई है. इंडोनेशिया के लोग राम को लेकर कहते हैं कि इस्लाम भले उनका मजहब है, लेकिन राम उनके पूर्वज हैं. हमारे ही देश में कुछ ऐसे लोग हैं जो राम पर सवाल उठाते हैं. मैं अयोध्या आऊं तो सवाल उठाते हैं और न आऊं तो भी सवाल उठाते हैं.''

योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी देश में रामराज्य लाने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि अब उत्तर प्रदेश में भी विकास बिना भेदभाव के हो रहा है और इसे ही हम रामराज्य कहते हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले उत्तर प्रदेश के तीन से चार ज़िलों में कुछ ख़ास स्थानों पर बिजली आती थी पर अब ऐसा नहीं है. योगी ने कहा कि इससे पहले रावण राज्य था, जिसमें भेदभाव किया जाता था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे