विशाखापट्टनम में महिला के साथ रेप, तमाशबीन ने बनाया वीडियो

  • 23 अक्तूबर 2017
सांकेतिक तस्वीर इमेज कॉपीरइट AFP

आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में रविवार दोपहर एक महिला से बलात्कार के आरोप में पुलिस ने एक ड्राइवर को गिरफ़्तार किया है.

पुलिस के मुताबिक अभियुक्त गांजी शिवा ने महिला का दिनदहाड़े बलात्कार किया, उस वक़्त वहां से लोगों का आना-जाना जारी था.

पुलिस को चश्मदीदों से घटना का वीडियो भी मिला है जिसमें बलात्कार होते वक़्त लोग भी आते-जाते दिख रहे हैं.

विशाखापट्टनम के टू टाउन पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर सीवी रमन्ना ने बीबीसी को बताया, "रविवार दोपहर दो बजे रेलवे स्टेशन के पास फुटपाथ पर एक नशेड़ी व्यक्ति ने एक महिला का बलात्कार किया."

पुलिस के मुताबिक, अभियुक्त गांजी शिवा को अदालत में पेश किया जा रहा है.

पुलिस का कहना है कि पीड़ित महिला का मेडिकल कराया गया है जिसमें बलात्कार की पुष्टि हुई है.

'हमें बेहोश कर रेप किया जाता और वीडियो बनाया जाता'

'वेश्यावृत्ति छोड़ने के लिए मदद मांगी, मिले कॉन्डोम'

इमेज कॉपीरइट Getty Images

घटना का वीडियो

स्थानीय मीडिया की रिपोर्टों के मुताबिक कई लोगों ने बलात्कार होते हुए देखा, लेकिन किसी ने रोकने की कोशिश नहीं की.

वहीं रमन्ना का कहना है कि मौके से पुलिस को कॉल की गई थी लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले ही अभियुक्त फरार हो गया.

रमन्ना ने बीबीसी को बताया, "बलात्कार होते देखने के बाद एक व्यक्ति ने अपने मोबाइल फ़ोन में वीडियो बनाया जबकि एक अन्य व्यक्ति ने पुलिस को कॉल करके जानकारी दी. पुलिस जब मौके पर पहुंची तो अभियुक्त फरार हो चुका था. बाद में वीडियो के आधार पर अभियुक्त की पहचान की गई और रात में उसे गिरफ़्तार किया गया."

चश्मदीदों ने अभियुक्त की मोटरसाइकिल का नंबर भी पुलिस को दिया था जिससे उसे पकड़ने में मदद मिली.

पुलिस का कहना है कि पीड़ित महिला विशाखापट्टनम के बाहरी इलाक़े की रहने वाली है और अपने पति से झगड़ा होने के बाद रविवार सुबह विशाखापट्टनम आई थी.

पुलिस पीड़ित महिला के बारे में और अधिक जानकारी जुटा रही है.

रमन्ना का कहना है कि चश्मदीदों ने जो वीडियो रिकॉर्ड किया है अब पुलिस उसे सबूत के तौर पर अदालत में पेश करेगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे