अयोध्या केवल राम मंदिर बनेगा, लक्ष्य के क़रीब: मोहन भागवत

  • 25 नवंबर 2017
इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption उडुपी में आयोजित तीन दिवसीय धर्म संसद में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत

इकनॉमिक टाइम्स के अनुसार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने शुक्रवार को कहा है कि अयोध्या में विवादित ज़मीन पर केवल राम मंदिर का ही निर्माण होगा.

मंदिरों के शहर उडुपी में आयोजित तीन दिवसीय धर्म संसद का उद्घाटन करते हुए मोहन भागवत ने कहा है कि अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण पर किसी को दुविधा नहीं होनी चाहिए.

उन्होंने कहा, ''हमलोग राम मंदिर बनाएंगे. यह कोई लोकप्रिया घोषणा नहीं है, बल्कि यह हमारी आस्था का विषय है और इसमें कोई बदलाव नहीं होगा.

आरएसएस प्रमुख ने कहा कि वर्षों की कोशिश और त्याग के बाद अब राम मंदिर का निर्माण सच होता प्रतीत हो रहा है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि यह मामला अभी अदालत में है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

भागवत ने कहा, ''वहां केवल राम मंदिर ही बनेगा और इसके अलावा कोई और निर्माण नहीं होगा. मंदिर का निर्माण उसी ज़मीन पर होगा जहां से रामचंद्र की महिमा जुड़ी हुई है. पिछले 25 सालों से राम जन्मभूमि आंदोलन में शामिल लोगों की देखरेख में और उसी पत्थर से मंदिर का निर्माण होगा.''

भागवत ने कहा कि मंदिर निर्माण से पहले लोगों में जागरूकता ज़रूरी है. उन्होंने कहा कि मंदिर निर्माण को लेकर को वो लक्ष्य के क़रीब हैं, लेकिन ऐसे वक़्त में और सतर्क रहने की ज़रूरत है.

वहीं इंडियन एक्सप्रेस ने लिखा है कि राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में आख़िरी सुनवाई होने जा रही है और उसके ठीक पहले आरएसएस प्रमुख का यह बयान आया है. इस धर्म संसद में देश भर से हिन्दू संत, मठ प्रमुख और विश्व हिन्दू परिषद के दो हज़ार लोग पहुंचे हैं.

एक्सप्रेस ने भागवत के हवाले से लिखा है, ''जब लोग मुझसे मंदिर के बारे में पूछते हैं तो मैं कोई निश्चित जवाब नहीं दे पाता हूं, क्योंकि मैं भविष्यवाणी नहीं कर सकता. बालासाहेब ने हमलोगों से 1990 में कहा था कि इसमें 20 से 30 साल के वक़्त लगेंगे. 2010 में 20 साल पूरे हो गए. 2020 में 30 साल हो जाएंगे. हमारी कोशिश बेकार नहीं जाएगी. अब वो समय क़रीब आ गया है. हमलोग इस मसले पर सतर्कता से आगे बढ़ रहे हैं.''

इमेज कॉपीरइट Getty Images

हिन्दुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत और चीन ने अपनी 3,488 किलोमीटर की सीमा पर चौकसी और सुरक्षा बढ़ा दी है. इस इलाक़े में कड़ाके की ठंड पड़ती है और ठंड शुरू होते ही दोनों देशों ने सैन्य आपूर्तियों को जमा करना शुरू कर दिया है. इससे पहले इसी गर्मी में पूर्वी भूटान के डोकलाम इलाक़े दोनों देशों के बीच 72 दिनों तक सैन्य तनातनी चली थी.

अमर उजाला ने पहले पन्ने ख़बर छापी है कि राष्ट्रीय दवा मूल्य नियामक ने 51 ज़रूरी दवाओं के दाम कम किए हैं. अख़बार ने हेडलाइन दी है- कैंसर, दिल की बीमारी की दवाएं 53 फ़ीसदी तक सस्ती. जिन दवाओं के दाम कम किए गए हैं उनमें - कोलोन कैंसर, जापानी बुख़ार, मीज़ल्स वैक्सीन जैसी दवाएं शामिल हैं.

डेंगू की वैक्सीन

हिंदुस्तान टाइम्स और द मिंट में ख़बर है कि भारत साल 2019 तक डेंगू की वैक्सीन तैयार कर लेगा. अख़बार ने लिखा है पेनेसिया बायोटेक नाम की कंपनी ने इस वैक्सीन के क्लिनिकल ट्रायल्स की अनुमति हासिल कर ली है. इस वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल्स अगले साल शुरू कर दिए जाएंगे.

ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया यानि डीसीजीआई ने अख़बार को इस बात की पुष्टि की कि इस कंपनी को फेज एक और फेज दो के ट्रायल्स की इजाज़त दे दी गई है.

'विकास' को टिकट

इंडियन एक्सप्रेस में छपी ख़बर के अनुसार भाजपा की 'मैं हू विकास' टीवी कैंपेन में विकास की भूमिका निभाने वाले एक्टर को टिकट दिया है. हितेश कनोडिया उत्तरी गुजरात के इदार से चुनाव लड़ेंगे. वैसे कनोडिया 2012 में भी चुनाव लड़ चुके हैं लेकिन वो कांग्रेस के उम्मीदवार से महज़ 1200 वोटों से हार गए थे.

अनूठा मैच

अमर उजाला की ये ख़बर कि नागालैंड की महिला क्रिकेट टीम ने बीसीसीआई महिला अंडर-19 टूर्नामेंट में एक अनूठा रिकॉर्ड बनाया है. नगालैंड की टीम केरल के ख़िलाफ़ 17 ओवर में सिर्फ़ दो रन पर ही ढेर हो गई. नो बल्लेबाज़ तो खाता भी नहीं खोल पाए. केरल ने सिर्फ़ एक गेंद खेलकर ही मैच जीत लिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए