उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव 2017: जानें 10 बातें

  • 1 दिसंबर 2017
इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन इमेज कॉपीरइट Getty Images

उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव 2017 में राज्य के 75 जिलों में शुक्रवार को वोटों की गिनती की जा रही है.

चलिए जानते हैं इन चुनावों से जुड़ी 10 बातें.

1. तीन चरणों में 22, 26 और 29 नवंबर को कराये गए चुनाव में 52.4 फ़ीसदी वोट पड़े थे. पहले चरण में 24 ज़िलों के 230 निकायों पर मतदान हुए थे. जबकि दूसरे चरण में 25 ज़िलों के 189 निकायों पर और तीसरे और अंतिम दौर में 26 ज़िलों के 233 निकायों में मत डाले गये थे.

2. 652 निकायों के लिए हुए चुनाव के लिए मतों की गिनती 334 केंद्रों पर की जा रही है.

प्रधानमंत्री मोदी से राहुल गांधी ने पूछे तीन सवाल

क्या मोदी ने आख़िरी दांव शुरुआत में ही चल दिया?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

3. इसमें 79,113 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला होना है.

4. चार निकायों में यहां पहली बार चुनाव हुए हैं. अयोध्या, मथुरा-वृंदावन, फ़िरोज़ाबाद और सहारनपुर में पहली बार निगम चुनाव हुए हैं. इसलिए यहां पहली बार मेयर बनेंगे.

5. गाज़ियाबाद की लोनी नगर पालिका मतदाताओं की संख्या के मामले में सबसे बड़ा निकाय है. यहां 4 लाख मतदाता है.

6. नगर निगमों की संख्या 16 जबकि नगरपालिकाएं 198 हैं. यहां वार्ड की कुल संख्या 11,995 है.

गुजरात में बीजेपी ने इतनी बड़ी 'फ़ौज' क्यों उतारी?

मोदी का आक्रामक प्रचार और वोटकटवा चालें

इमेज कॉपीरइट Getty Images

7. उत्तर प्रदेश में कुल 438 नगर पंचायत हैं.

8. यहां की 29 नगरपालिकाओं में एक लाख से ज़्यादा मतदाता हैं.

9. राज्य की सत्ता में बैठी बीजेपी सरकार शुरुआती रुझानों में आगे दिख रही है. नौ महीने पहले आयी योगी आदित्यनाथ सरकार के लिए इस चुनाव के नतीजे महत्वपूर्ण कहे जा रहे हैं.

10. निकाय चुनाव के पहले चरण में ईवीएम में कथित गड़बड़ी के आरोप लगे थे. जिसे बाद में राज्य निर्वाचन आयोग ने अफ़वाह बताया था. हालांकि राजनीतिक दलों और सोशल मीडिया में इसे लेकर खूब हो-हल्ला मचा. पढ़ें पूरी ख़बर.

2012 में हुए पिछले निकाय चुनाव में बीजेपी ने 12 में से 10 मेयर की सीटें अपने नाम की थी. राज्य के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा तब लखनऊ से मेयर चुने गये थे. हालांकि इस बार लखनऊ से मेयर के रूप में एक महिला का चुनाव होगा क्योंकि इस बार यह महिलाओं के लिए आरक्षित सीट है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए