मणिशंकर ने बताया मोदी को 'नीच', राहुल हुए नाराज़

  • 7 दिसंबर 2017
नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी, मणिशंकर अय्यर इमेज कॉपीरइट AFP/Getty Images

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने फिर कुछ ऐसा कह दिया है गुरुवार को गुजरात चुनावों पर राजनीति गरमा गई.

मणिशंकर के बयान से बीजेपी को फ्रंटफुट पर आकर हमलावर रुख अपनाने का मौका मिल गया तो कांग्रेस रक्षात्मक रवैया अपनाती दिखी.

प्रधानमंत्री मोदी पर मणिशंकर अय्यर ने कहा, "ये आदमी बहुत नीच किस्म का है. इसमें कोई सभ्यता नहीं है और ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की क्या आवश्यकता है?"

क्या गुजरात सीएम मोदी को मिस कर रहा है?

गुजरात: घनश्याम पांडे कैसे बने स्वामीनारायण?

राहुल का ट्वीट

मणिशंकर के बयान से होने वाले राजनीतिक नुक़सान को भांपकर राहुल गांधी के दफ्तर ने ट्वीट किया, "बीजेपी और प्रधानमंत्री कांग्रेस पर हमला करने के लिए नियमित रूप से गंदी भाषा का इस्तेमाल करते हैं. कांग्रेस की एक अलग संस्कृति और विरासत है. प्रधानमंत्री के लिए मणिशंकर अय्यर ने जिस भाषा और लहजे का इस्तेमाल किया है, मैं उसे ठीक नहीं मानता हूं. उन्होंने जो कहा, कांग्रेस और मैं दोनों ही उनसे इसके लिए माफी की उम्मीद करता हूं."

साल 2014 के लोकसभा चुनावों में वो मणिशंकर ही थे जिन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'चायवाला' कहकर संबोधित किया था और इससे पहले वे वाजपेयी को 'नालायक' कह चुके थे.

सात दिसंबर को गुजरात चुनाव के पहले चरण के लिए प्रचार का आख़िरी दौर था और सूरत की रैली में प्रधानमंत्री जवाब देने का मौका चूकने वाले नहीं थे.

नवागाम: गुजरात में विकास के साइड इफेक्ट का सबूत

'या अल्लाह गुजरात जिता दे...'

इमेज कॉपीरइट Twitter @BJP4India

मोदी का जवाब

प्रधानमंत्री ने मणिशंकर को जवाब दिया, "उन्होंने मुझे नीच कहा. हां, मैं समाज के ग़रीब तबके से आता हूं और मैंने अपनी ज़िंदगी का हर लम्हा ग़रीबों, दलितों, आदिवासियों और ओबीसी तबके के लिए काम करने में खर्च करूंगा. वे अपनी भाषा अपने पास रखें, हम अपना काम करते रहेंगे."

लेकिन चुनावी मौसम में बात यही नहीं रुकती दिखी. बीजेपी नेता और मोदी सरकार में मंत्री रविशंकर प्रसाद ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, "मणिशंकर अय्यर ने हमारे प्रधानमंत्री को नीच कहा है लेकिन हमें हमारे प्रधानमंत्री पर गर्व है. उन्होंने मणिशंकर अय्यर की बात का बेहद विनम्रता से जवाब दिया है. मणिशंकर अय्यर की मानसिकता दरबारियों वाली है."

मोदी बार-बार फ़तवा क्यों बोल रहे हैं?

मोदी के गढ़ में बीजेपी को चुनौती देने वाली

इमेज कॉपीरइट AFP/Getty Images

मणिशंकर की माफी

हालांकि कांग्रेस ने मणिशंकर अय्यर के बयान पर कांग्रेस ने अपना स्टैंड स्पष्ट करने में जरा भी देरी नहीं की. पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने राहुल गांधी के हवाले से कहा कि पार्टी मणिशंकर अय्यर के बयान की भर्तस्ना करती है.

मणिशंकर ने सफ़ाई देते हुए कहा, "बाबा साहेब अंबेडकर सेंटर के उद्घाटन के मौके पर प्रधानमंत्री कांग्रेस और राहुल गांधी पर ताना क्यों मारा? प्रधानमंत्री हर दिन हमारे नेताओं के ख़िलाफ़ गंदी भाषा का इस्तेमाल करते हैं. मैं एक फ्रीलांस कांग्रेसी हूं. पार्टी में मेरे पास कोई पद नहीं है. इसलिए मैं प्रधानमंत्री को इस भाषा में जवाब दे सकता हूं. जब मैंने नीच कहा तो मेरा मतलब लो लेवल था. जब मैं हिंदी में बोलता हूं तो मैं अंग्रेजी में सोचता हूं क्योंकि हिंदी मेरी मातृभाषा नहीं है. इसलिए अगर मेरे कहे का कुछ और मतलब है तो मैं इसके लिए माफी मांगता हूं."

हालांकि साल 2014 में मोदी को चायवाला कहने के आरोपों से मणिशंकर इनकार करते हैं. उन्होंने कहा, "मैंने कभी मोदी को चायवाला नहीं कहा. आप इंटरनेट पर जा सकते हैं और सभी वीडियो देख सकते हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए