राजसमंद मर्डर केस: वीडियो क्लिक के आधार पर एक की गिरफ्तारी

  • 8 दिसंबर 2017
पुलिस इमेज कॉपीरइट TAUSEEF MUSTAFA/AFP/Getty Images
Image caption [सांकेतिक तस्वीर]

राजस्थान के राजसमंद जिले में एक मुस्लिम शख्स की हत्या मामले में पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है.

पुलिस ने गिरफ्तारी का आधार वीडियो क्लिप को बनाया है. इस व्यक्ति पर एक मुसलमान व्यक्ति की बर्बर हत्या करने और फिर उसे जलाने का आरोप है.

'हिंदुस्तान टाइम्स' अख़बार में छपी इस ख़बर के अनुसार, इस व्यक्ति ने अपने एक साथी के साथ मिलकर इस पूरे वाकये का वीडियो बनाया और उसे सोशल मीडिया पर शेयर किया. इस वीडियो में वो 'जिहादियों' से देश छोड़ कर जाने के लिए कहते दिख रहे हैं. वो कह रहे हैं कि ऐसा ना किया तो अंजाम बुरा होगा.

अख़बार के अनुसार, शंभूलाल रगर नाम के इस व्यक्ति ने पुलिस को बताया है कि एक महिला को लव जिहाद से बचाने के लिए उन्होंने पश्चिम बंगाल से आए 50 साल के मज़दूर अफराज़ुल इस्लाम की हत्या कर दी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर की प्राथमिक सदस्यता निलंबित करने के मामले में 'दैनिक जागरण' ने लिखा- कांग्रेस ने अपने ही पैर पर कुल्हाड़ी चला दी है.

अख़बार का कहना है कि कांग्रेस को पता है कि नरेंद्र मोदी के ख़िलाफ़ आपत्तिजनक टिप्पणी का पिछली बार जनता ने करारा जवाब दिया था. इस बार कांग्रेस कोई ग़लती नहीं करना चाहती और इसीलिए कांग्रेस नेतृत्व को इसका आभास हो गया था. अख़बार का कहना है अय्यर का निलंबन भावी नुक़सान को नहीं रोक सकता.

गुरुवार को मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री मोदी को नीच किस्म का आदमी कहा था.

कांग्रेस ने मणिशंकर अय्यर की प्राथमिक सदस्यता निलंबित की

मोदी पर मणि- सांप, बिच्छू से लेकर जोकर तक

इमेज कॉपीरइट NARINDER NANU/AFP/Getty Images

'जनसत्ता' में छपी एक ख़बर के अनुसार, केंद्र सरकार ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि विभिन्न सेवाओं और कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठाने के लिए उन्हें आधार से अनिवार्य रूप से जोड़ने के लिए दी गई समयसीमा अगले साल 31 मार्च तक बढ़ाना चाहती है.

हालांकि अटॉर्नी जनरल ने कहा कि बाधा रहित मोबाइल सेवाओं को आधार से जोड़ने के लिए समयसीमा 6 फरवरी ही रहेगी.

सुप्रीम कोर्ट आधार को अनिवार्य रूप से जोड़ने के केंद्र के फैसले पर रोक लगाने की मांग कर रही कई याचिकाओं पर सुनवाई कर रही है. इस मामले में कोर्ट अगले सप्ताह पांच सदस्यीय संविधान पीठ का गठन करेगी.

आधार के पेंच से भूखों मरने की नौबत आई

'काश, यह आधार इतना ज़रूरी नहीं होता'

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption बीते महीने बच्ची के परिवारवालों से 16 लाख का बिल मांगने वाले अस्पताल को लेकर सोशल मीडिया पर काफी हंगामा हुआ था

'अमर उजाला' में छपी एक ख़बर के अनुसार आद्या के पिता जयंत सिंह ने फोर्टिस अस्पताल पर आरोप लगाया है कि मामला दबाने के लिए अस्पताल ने उन्हें 35.76 लाख रुपये की पेशकश की है.

उनका कहना है कि अस्पताल ने अपनी ग़लती मानी है कि उन्होंने अधिक पैसे वसूले हैं लकिन वो ये लिखित में देने को तैयार नहीं है.

अख़बार के अनुसार अस्पताल के प्रवक्ता ने इस ख़बर का खंडन किया है और कहा है कि उनकी तरफ से ऐसी कोई पेशकश नहीं की गई है.

द्वारका के रहने वाले जयंत सिंह डेंगू से पीड़ित अपनी बेटी को इलाज के लिए फोर्टिस अस्पताल ले कर गए थे जहां उसकी मौत हो गई. आद्या की मौत के बाद अस्पताल ने जयंत को करीब 15.76 लाख रुपये का बिल बनाया गया था.

डेंगू, दो हफ्ते इलाज, 16 लाख का बिल और मौत

इमेज कॉपीरइट Facebook

इसी मामले के संबंध में 'जनसत्ता' में छपी एक ख़बर के अनुसार हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल को राज्य सरकार के पैनल में शामिल निजी अस्पतालों की सूची से हटाने का आदेश दिया है.

इससे एक दिन पहले एक कमेटी ने बच्ची की मौत के मामले में अस्पताल की ओर से अनियमितताएं होने की बात कही थी.

'ख़ूबसूरत कब्रिस्तान है ताजमहल, घर में रखना अशुभ'

इमेज कॉपीरइट PUNIT PARANJPE/AFP/Getty Images

'द हिंदू' में छपी एक ख़बर के अनुसार यूनेस्को ने भारत में होने वाले कुंभ मेले को मानवता की अमूर्त सांस्कृतिक धरोहर के तौर पर मान्यता दी है.

यूनेस्को के तहत काम करने वाले इंटरगर्वनमेंटल कमिटी फॉर द सेफगार्डिंग ऑफ इन्टेंजिबल कल्चरल हेरीटेज ने दक्षिण कोरिया के जेजू में हुए अपने 12वें सत्र में कुंभ मेले को सांस्कृतिक धरोहर की प्रतिनिधि सूची में शामिल किया है.

कुंभ मेले का आयोजन हरिद्वार, इलाहाबाद, उज्जैन और नासिक में किया जाता है.

'द स्टेट्समैन' में छपी एक ख़बर के अनुसार नेशनल ग्रीन ट्राइब्यूनल ने कहा है कि पिछले साले मार्च में विश्व सांस्कृतिक महोत्सव के कारण यमुना डूब क्षेत्र को नुकसान हुआ है जिसके लिए श्री श्री रविशंकर का संगठन आर्ट ऑफ लिविंग फाउंडेशन जिम्मेदार है.

ट्राइब्यूनल के अध्यक्ष जस्टिस स्वतंत्र कुमार की अध्यक्षता वाली पीठ ने फाउंडेशन पर मुआवज़ा बढ़ाने से इनकार करते हुए कहा कि उसके द्वारा पहले जमा कराए गए पांच करोड़ रुपयों का इस्तेमाल डूब क्षेत्र में पूर्व स्थिति की बहाली के लिए किया जाएगा.

यही है श्री रविशंकर का मंच

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए