बच्ची की निर्मम हत्या, बलात्कार की आशंका

  • 11 दिसंबर 2017
उकलाना, हिसार, हरियाणा इमेज कॉपीरइट Manoj Dhaka

16 दिसम्बर 2012 की रात को दिल्ली में निर्भया के साथ जिस तरह का वाक़या पेश आया था, कुछ वैसा ही इस बार हरियाणा में हुआ है. लेकिन इस बार पीड़िता की उम्र है महज़ पांच साल.

घटना हरियाणा के हिसार जिले की है जहां उकलाना कस्बे में बीते शनिवार को पांच साल की एक बच्ची का ख़ून से लथपथ शव नग्न अवस्था में मिला.

डॉक्टरों के अनुसार बच्ची के प्राइवेट पार्ट में 24 सेंटीमीटर लम्बी लकड़ी डाली गई है जिसकी वजह से बच्ची को गहरे जख़्म हो गए थे. बलात्कार की पुष्टि के लिए करनाल के मधुबन स्थित फोरेंसिक लैब में सैंपल भेजे गए हैं.

'रेप के ज़ख़्म ऐसे कि हाथ मिलाते भी डरती हूँ'

'उसका बलात्कार निर्भया के बाद हुआ'

घर के पास ही मिला शव

इमेज कॉपीरइट Manoj Dhaka

बच्ची के पिता रमेश नाथ पेशे से मजदूर हैं. उकलाना के विजयनगर के वार्ड नंबर 7 के एक खाली प्लॉट में बच्ची अपने माता-पिता और तीन भाई-बहनों के साथ एक झुग्गी में रहती थी. इसी एक प्लॉट में रमेश के चार और भाइयों का परिवार भी रहता है.

उकलाना मंडी दिल्ली से करीब 220 किलोमीटर दूर है.

रमेश नाथ कहते हैं, "मैं उस दिन मज़दूरी करने गुरुग्राम गया था और घर पर मेरी पत्नी अकेली थी. रात को खाना खाकर अपने चारों बच्चों के साथ वो सो गई. सुबह उठे तो पता चला की बच्ची अपनी मां के पास नहीं है."

शनिवार की सुबह बच्ची नहीं मिली तो उसकी मां चिल्ला-चिल्ला कर उसे ढूंढने लगी. घर के आस-पास देखा पर बच्ची का पता नहीं चला. मंदिर से आ रही कुछ महिलाओं ने बताया कि पास की गली में एक बच्ची पड़ी हुई है.

'ऑनलाइन रेप' करने वाले को दुनिया में पहली बार सज़ा

'नाबालिग' ने पति पर लगाया बलात्कार का आरोप

इमेज कॉपीरइट Manoj Dhaka

घर से 250 मीटर दूर गली में उसका शव मिला. उसके कंधे, माथे और पीठ पर खरोंच के ज़ख्म थे. शव देख कर बच्ची की मां वहीं बेहोश होकर गिर गई.

बच्ची की मां कहती हैं, "जिन्होंने हमारी बच्ची के साथ ऐसा किया उनको फांसी की सज़ा होनी चाहिए."

उनके पड़ोस की रहने वाली महिला लाडो ने कहा, "आज तक हमारे इलाके में ऐसी कोई घटना नहीं हुई थी. अब हमें डर लगने लगा है. हरियाणा सरकार से हम डिमांड करते हैं कि इस इलाके में सुरक्षा दी जाए."

नेपाली लड़कियों की तस्करी भारत, चीन से लेकर अरब तक

एमपी का प्रस्तावित रेप क़ानून कितना सख़्त?

कई नेता पहुंचे सांत्वना देने

इमेज कॉपीरइट Manoj Dhaka

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने पीड़ित परिवार को न्याय का भरोसा दिलाया है कि जल्द से जल्द अभियुक्तों को गिरफ्तार किया जाएगा. लेकिन घटना से गुस्साए लोगों ने उनकी मौजूदगी में सरकार के ख़िलाफ़ मुर्दाबाद के नारे लगाए.

रमेश नाथ बताते हैं कि हरियाणा सरकार ने उनके परिवार को 10 लाख की आर्थिक सहायता और बीपीएल कार्ड देने का वादा किया है.

उन्होंने बताया, "परिवार के दो लोगों को पक्की नौकरी का आश्वासन दिया गया है. सरकार ने हम पांचों भाइयों, यानी पांचों परिवरों को घर के लिए ज़मीन देने का भी आश्वासन दिया है."

राज्यसभा सांसद कुमारी शैलजा ने भी यहां पहुंच कर बच्ची के माता-पिता को आश्वासन दिया, "हम आप लोगों के साथ हैं." विधायक रेणुका बिश्नोई भी परिवार से मुलाकात करने हिसार पहुंचीं.

हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला और उकलाना से विधायक अनूप धानक ने कहा, "हम गृहमंत्री से मिलेंगे और सिफारिश करेंगे कि जल्द से जल्द इस केस को फास्ट ट्रैक पर ले जाएं ताकि परिवार को न्याय मिल सके."

दुष्यंत चौटाला कहते हैं, "मैं सदन में आवाज़ उठाऊंगा ताकि आगे ऐसी कोई घटना ना हो."

‘तुम विकलांग हो, तुम्हारे बलात्कार से क्या मिलेगा?’

उत्तर कोरिया की सेना में महिलाओं का हाल

कितनी आगे बढ़ी जांच

इमेज कॉपीरइट Manoj Dhaka

हिसार की पुलिस अधीक्षक मनीषा चौधरी का कहना है कि इस मामले में कुछ लोगों से पूछताछ की जा रही है. उन्होंने कहा, "हमने डीजीपी को पत्र लिखा है और सिफ़ारिश की है कि अभियुक्तों को पकड़ने वाले को 2 लाख रुपए का इनाम दिया जाए."

हिसार पुलिस प्रवक्ता ओ चंद्रभान बताते हैं कि इस मामले में भारतीय दंड संहिता की धारा 302, 376(2)(M), 363 और 450 लगाई गई हैं. मामले की जांच के लिए विशेष जांच दल भी बनाया गया है.

पीड़ित बच्ची के परिवार ने अंतिम संस्कार करने से पहले मना कर दिया था. लेकिन दोषियों की गिरफ्तारी का आश्वासन मिलने के बाद अंतिम संस्कार कर दिया गया.

हालांकि पुलिस के हाथ अभी तक खाली हैं और अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए