कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, 'वो देश में आग लगा रहे हैं'

  • 16 दिसंबर 2017
राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट Getty Images

कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष पद की ज़िम्मेदारी ग्रहण करने के बाद राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी पर क़रारा हमला बोला है.

पहले अंग्रेज़ी और फ़िर हिंदी में दिए गए अपने भाषण में राहुल ने कहा, "एक बार आग लग जाती है तो बुझाना बहुत मुश्किल होता है. यही बीजेपी के लोगों को हम समझाने की कोशिश कर रहे हैं."

उन्होंने कहा, "आज बीजेपी के लोग पूरे देश में आग और हिंसा फैलाने की कोशिश कर रहे हैं. और इसे रोकने के लिए पूरे देश में केवल एक शक्ति है और वो है कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता और नेता. वो तोड़ते हैं हम जोड़ते हैं, वो आग लगाते हैं, हम बुझाते हैं."

राहुल गांधी ने कहा कि 'आज राजनीति से बहुत लोग निराश हैं क्योंकि आज इसका इस्तेमाल लोगों को मजबूत बनाने की बजाय उन्हें दबाने के लिए किया जा रहा है. आज की राजनीति पूरी तरह करुणा और सत्य से खाली हो चुकी है.'

राहुल को कमान मिलने के बाद क्या करेंगी सोनिया?

राहुल गांधी की सबसे बड़ी चुनौती वो खुद हैं

इमेज कॉपीरइट Getty Images

'प्रधानमंत्री बर्बर युग में ले जा रहे हैं'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, "कांग्रेस ने भारत को 21वीं सदी का देश बनाया, जबकि प्रधानमंत्री उसे पीछे मध्ययुग में ले जा रहे हैं जहां लोगों की इसलिए बर्बर हत्याएं कर दी जाती थीं क्योंकि वो दूसरों से अलग थे. पीटा जाता था क्योंकि वो अलग मान्यता रखते थे और अलग खानपान के लिए मार डाला जाता था."

उन्होंने कहा, "ये घिनौनी हिंसा हमें दुनिया में शर्मिंदा करती है. इस देश का ऐतिहासिक रूप से दर्शन रहा है प्यार और संवेदना, लेकिन इस डर से उस पर धब्बा लग गया है. इस महान देश को क्षति हुई है उसे कोई भी सहानुभूति पूरा नहीं कर सकती."

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अबतक का सबसे बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि 'इस समय मोदी खुद ही पूरे देश की अकेली आवाज़ बन बैठे हैं और सारी योग्यताएं और विशेषज्ञताओं को बस एक व्यक्ति की छवि बनाने के लिए दरकिनार कर दी गई.'

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption कांग्रेस के पहले अध्यक्ष मोतीलाल नेहरू थे. 1946 में जवाहरलाल नेहरू ने पार्टी की कमान संभाली. राहुल गांधी क़रीब 132 साल पुरानी कांग्रेस कांग्रेस के छठे अध्यक्ष हैं

नेहरू गांधी परिवार के छठे सदस्य

राजधानी दिल्ली में कांग्रेस पार्टी के मुख्यालय पर हुए एक समारोह में राहुल की ताजपोशी से पहले सोनिया गांधी ने अध्यक्ष के तौर पर अपना अंतिम भाषण देते हुए नई पारी के लिए राहुल को बधाई और आशीर्वाद दिया.

कांग्रेस की विरासत पर सालों तक चली अटकलबाजी और पशोपेश के बाद अंततः राहुल गांधी को अध्यक्ष पद की ज़िम्मेदारी सौंपी गई.

सोनिया गांधी के सामने राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष चुनाव का एक सर्टिफ़िकेट दिया गया.

राहुल गांधी कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष पद संभालने वाले नेहरू-गांधी खानदान के छठे सदस्य बन गए हैं.

इस मौके पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पार्टी मुख्यालय के बाहर पटाखे छोड़कर और मिठाई बांटकर खुशी मनाई.

कार्यकर्ताओं की खुशी का आलम ये था कि एक दफ़ा पटाखों के शोर से सोनिया गांधी को अपना भाषण बीच में रोकना पड़ा. जब कांग्रेस नेता जनार्दन द्विवेदी ने अपील की उसके बाद पटाखों का शोर कम हुआ और सोनिया गांधी ने अपना भाषण पूरा किया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए