दोनों महिलाओं को विधवा जैसी दिखने पर मज़बूर किया गया: सुषमा स्वराज

  • 28 दिसंबर 2017
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इमेज कॉपीरइट RSTV

"एक मां की अपने बेटे से और पत्नी की अपने पति से मुलाकात को पाकिस्तान ने प्रोपेगैंडा में बदल दिया."

पाकिस्तान की ज़ेल में बंद कुलभूषण जाधव की उनके घर वालों से मुलाकात पर भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने गुरुवार को संसद में बयान दिया.

'जाधव के परिवार संग बदसलूकी' पर क्या बोला पाक?

'जाधव का ज़िंदा रहना ही पाकिस्तान के हक़ में'

ऐसे मिले कुलभूषण जाधव अपनी मां और पत्नी से

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
मां और पत्नी से मुलाक़ात के बाद क्या बोले कुलभूषण?

विदेश मंत्री का संसद में बयान

  • इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस के फ़ैसले की मदद से कुलभूषण जाधव के जीवन पर मंडरा रहे ख़तरे को अभी टाल दिया गया है. अब हम आईसीजे में और ज़्यादा मज़बूत तर्कों के आधार पर उन्हें स्थाई राहत दिए जाने की कोशिश कर रहे हैं.
  • इस मुश्किल की घड़ी में हम उनके परिवार से निरंतर संपर्क बनाए हुए हैं. इसलिए ये स्वाभाविक था कि हम उनके परिवार के सदस्यों की कुलभूषण जाधव से मिलने की इच्छा को पूरी करने में सहायक बने ताकि वे स्वयं उनसे मिलकर उनके कुशल क्षेम के बारे में जान सकें. हम राजनयिक माध्यमों से निरंतर इस दिशा में प्रयास करते रहे.
  • ये मुलाकात आगे की दिशा में बढ़ने वाला कदम हो सकती थी. लेकिन ये अत्यंत खेद का विषय है कि दोनों देशों के बीच बनी सहमति से हटकर इस मुलाकात का आयोजन किया गया. 22 महीने बाद एक मां की अपने बेटे से और एक पत्नी की अपने पति से होने वाली भाव भरी भेंट को पाकिस्तान ने एक प्रोपेगैंडा के हथियार के रूप में इस्तेमाल किया.
  • पाकिस्तान ने न केवल उनकी पत्नी की बल्कि उनकी मां की भी बिंदी और मंगलसूत्र उतरवा लिए. मैंने इस बारे में कुलभूषण जाधव की मां से बात की है. कुलभूषण ने इस अवस्था में मां को देखा तो पूछा कि बाबा कैसे हैं. उन्हें लगा कि उनकी गैरमौजूदगी में कोई दुर्घटना तो नहीं हुई.
  • कुलभूषण जाधव की पत्नी के बार-बार आग्रह करने के बावजूद उनके जूते नहीं लौटाए गए. पाकिस्तानी मीडिया में कहा जा रहा है कि उनके जूतों में कैमरा या रिकॉर्डर था. इससे ज़्यादा ग़लत बात कुछ भी नहीं हो सकती है. वे यही जूते पहनकर दो फ्लाइट्स में सफ़र कर चुकी थीं.
  • इसमें मानवतावादी जेस्चर जैसा कुछ नहीं है. परिवार के लोगों के मानवाधिकार का बार-बार उल्लंघन किया गया. उनके लिए एक डर का माहौल बना दिया गया.
  • कुलभूषण जाधव की मां केवल साड़ी पहनती हैं. उन्हें सलवार सूट पहनने के लिए मजबूर किया गया. मां और पत्नी दोनों की बिंदी, चूड़ियां और मंगलसूत्र हटवाये गए. दोनों शादीशुदा महिलाओं को विधवा जैसे दिखने के लिए मजबूर किया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार