प्रेस रिव्यू: कौन तंग कर रहा था सचिन की बेटी सारा को?

  • 8 जनवरी 2018
तेंदुलकर इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारत के पू्र्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर की बेटी सारा तेंदुलकर का पीछा करने के आरोप में पश्चिम बंगाल से एक व्यक्ति को गिरफ़्तार किया गया है.

देबकुमार नाम का ये व्यक्ति पूर्व मिदनापुर ज़िले का रहने वाला है और सचिन के घर पर लगातार फोन कर रहा था.

इकोनॉमिक टाइम्स ने पुलिस सूत्रों के हवाले से बताया है कि गिरफ़्तार किए गए व्यक्ति ने सारा तेंदुलकर को अगवा करने की धमकी भी दी थी.

32 वर्षीय देबकुमार मैती के परिजनों का कहना है कि वो मानसिक रूप से परेशान और बेरोज़गार है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ऐसी जानकारी मिली है कि इस व्यक्ति ने तेंदुलकर के निवास पर 20 बार कॉल की, सारा को लेकर भद्दी टिप्पणी की और साथ ही उन्हें अगवा करने की धमकी भी दी.

इस बात का पता अभी लगाया जा रहा है कि जिस पर आरोप है, उसके पास तेंदुलकर निवास का नंबर कहां से आया.

दूसरी तरफ़ देबकुमार का कहना है कि उन्होंने सारा को टीवी पर देखा और प्यार हो गया.

इंडिया टुडे के मुताबिक देबकुमार ने पुलिस को बताया, ''मैंने उन्हें टीवी पर पवेलियन में बैठे हुए देखा था और मुझे उनसे प्यार हो गया...मैं उनसे शादी करना चाहता हूं. मैंने तेंदुलकर का लैंडलाइन नंबर खोजा और करीब बीस बार कॉल की...मैंने सारा को कभी आमने-सामने नहीं देखा है.''

ठगे गए दूल्हे

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption प्रतीकात्मक तस्वीर

द इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक हरियाणा के सोनीपत ज़िले में एक महिला ठग ने 32 'दूल्हों' को ठग लिया.

सभी को शादी के दिन ठगे जाने का अहसास हुआ. ठगे गए अधिकतर लोग मज़दूर या किसान हैं. इनसे मरियम नाम की एक महिला ने शादी के नाम पर पैसे ले लिए.

दूल्हों को सुंदर अनाथ लड़कियों से शादी करवाने का झांसा दिया गया था. एक दूल्हे ने अख़बार से कहा, 'ना बीवी मिली, ना सोना और पैसे भी गए.'

धर्मस्थलों से हटेंगे लाउडस्पीकर

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उत्तर प्रदेश में सरकार ने सभी धर्मस्थलों और सार्वजनिक स्थानों पर बिना अनुमति के लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है.

सरकार ने 15 जनवरी को अनुमति लेने की अंतिम तिथि तय करते हुए कहा है कि 20 जनवरी से लाउडस्पीकरों को ज़बरदस्ती धर्मस्थलों से हटा दिया जाएगा.

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बीस दिसंबर को सरकार से पूछा था कि क्या लाउडस्पीकर लगाने से पहले प्रशासन से अनुमति ली जाती है या नहीं.

इंडियन एक्स्प्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक राज्य के गृह विभाग ने सभी ज़िलों के अधिकारियों को बिना अनुमति के बजाए जा रहे सभी लाउडस्पीकरों को हटाने के आदेश दिए हैं.

बेकार हो गई थी आईएनएस अरिहंत

द हिंदू की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत की स्विर्मित परमाणु पनडुब्बी आईएनएस अरिहंत एक हादसे के बाद बेकार हो गई थी.

रिपोर्ट के मुताबिक एक मानवीय भूल की वजह से हुए हादसे के कारण आईएनएस अरिहंत कई महीनों से पानी में नहीं उतर सकी है. अख़बार ने सूत्रों के हवाले से ये जानकारी दी है कि पनडुब्बी के प्रोपल्सन कंपार्टमेंट में करीब दस महीने पहले पानी घुस गया था.

रिपोर्ट के मुताबिक ढक्कन को ग़लती से खुला छोड़ दिया गया था जिससे पनडुब्बी में पानी घुस गया. हालांकि भारत के रक्षा मंत्रालय ने इस रिपोर्ट पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. परमाणु हथियार ले जाने में सक्षण अरिहंत भारत की बेहद अहम पनडुब्बी है.

हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक बैंगलुरू में एक रेस्त्रां में आग लगने से पांच कर्मचारियों की मौत हो गई है.

रिपोर्ट के मुताबिक कैलाश बार और रेस्त्रा में हादसा सुबह ढाई बजे के करीब हुआ. हादसे में मारे गए पांचों कर्मचारी आग लगने के वक्त सो रहे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे