पीएनबी घोटालाः राहुल ने उठाए पीएम की चुप्पी पर सवाल

  • 17 फरवरी 2018
राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट Twitter/OfficeOfRG
Image caption राहुल गांधी ने सीधे प्रधानमंत्री मोदी से सवाल पूछा है

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पंजाब नेशनल बैंक घोटाले मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर सवाल उठाए हैं.

उन्होंने पूछा है कि प्रधानमंत्री इस घोटाले पर कुछ क्यों नहीं बोल रहे हैं?

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर देश के वित्तीय संस्थानों को बर्बाद करने के आरोप भी लगाए हैं.

उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री ने इस देश की वित्तीय व्यवस्था को बर्बाद कर दिया है. वो आम लोगों की जेब से पैसा निकालकर बैंकिंग सेक्टर में पहुंचा रहे हैं और अब उनके दोस्त और उद्योगपति इस पैसे को बैकिंग सेक्टर से चुरा रहे हैं."

पीएनबी स्कैम: 'किसी को बख़्शा नहीं जाएगा'

पीएनबी स्कैम: ईडी ने जब्त की 5100 करोड़ की संपत्ति

पीएनबी स्कैम: ईडी ने जब्त की 5100 करोड़ की संपत्ति

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
पीएनबी घोटाला और नीरव मोदी

राहुल के सवाल

राहुल गांधी ने शनिवार को एक प्रेस वार्ता कर कहा, "नीरव मोदी 22 हज़ार करोड़ रुपए निकालकर ले जाते हैं. प्रधानमंत्री एक घंटा 45 मिनट बच्चों को परीक्षा देना सिखाते हैं. लेकिन वो देश को ये नहीं बता सकते हैं कि 22 हज़ार करोड़ रुपए जो नीरव मोदी ने जनता का पैसा छीनकर लिया है उसके लिए कौन ज़िम्मेदार है."

राहुल ने कहा, "अलग-अलग मंत्री आकर सफ़ाई दे रहे हैं. लेकिन वित्त मंत्री या प्रधानमंत्री, जो इसके लिए ज़िम्मेदार हैं, उन्होंने इस बारे में कुछ नहीं कहा."

उन्होंने कहा, "जो 22 हज़ार करोड़ रुपए मोदी ने लिए हैं और जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नज़रअंदाज़ कर रहे हैं उसे बिना उच्च-स्तरीय संरक्षण के किया ही नहीं जा सकता है."

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption बीजेपी ने नीरव मोदी को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा है

पंजाब नेशनल बैंक में कथित घोटाला सामने आने के बाद से कांग्रेस सत्ताधारी भाजपा पर हमलावर हो गई है.

इससे पहले एक प्रेस वार्ता कर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी पर घोटाले में शामिल नीरव मोदी की एक कंपनी से जुड़े होने के आरोप लगाए.

वहीं, बीजेपी के आरोपों के बाद अभिषेक मनु सिंघवी ने क़ानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए