मेरे घर पर पुलिस भेजी, अमित शाह से पूछताछ कब: अरविंद केजरीवाल

  • 23 फरवरी 2018
अरविंद केजरीवाल इमेज कॉपीरइट Getty Images

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर केंद्र सरकार की मंशा पर सवाल उठाते हुए जज लोया केस में छानबीन की मांग की है.

अपने घर में जारी सर्च ऑपरेशन का जिक्र करते हुए केजरीवाल ने ट्विटर पर लिखा, "ख़ूब पुलिस मेरे घर में भेजी है, मेरे घर की छानबीन चल रही है. बहुत अच्छी बात है. पर जज लोया के मामले में अमित शाह से पूछताछ कब होगी."

इमेज कॉपीरइट Twitter/Arvind Kejriwal

एक और ट्वीट में केजरीवाल ने लिखा कि दिल्ली के मंत्रियों ने एलजी से मिलने के लिए समय मांगा है.

इमेज कॉपीरइट Twitter/Arvind Kejriwal

कुछ देर बाद एक और ट्वीट कर केजरीवाल ने लिखा, "दो थप्पड़ के आरोप की जांच के लिए सीएम के पूरे घर की तलाशी. जज लोया के क़त्ल पर पूछताछ तो बनती है. नहीं?"

इमेज कॉपीरइट Twitter/Arvind Kejriwal

पहली बार सीएम के घर सर्च ऑपरेशन

ये पहला मौक़ा है जब पुलिस राज्य के मुख्यमंत्री के घर छापा मारने पहुंची है. पीटीआई के मुताबिक़ उत्तरी दिल्ली के एडिशनल डीसीपी ने कहा, "दिल्ली चीफ़ सेक्रेटरी के साथ मारपीट के मामले में पुलिस की एक टीम को सीएम के घर सीसीटीवी फुटेज़ समेत दूसरे सबूत जुटाने के लिए भेजा गया है."

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता अरूणोदय प्रकाश के अनुसार क़रीब 60-70 पुलिसवाले सीएम के घर पर तलाशी के लिए पहुंचे.

प्रकाश ने ट्विटर पर लिखा, "सीएम निवास पूरी तरह पुलिस के कब्ज़े में है. भारी संख्या मे पुलिस वाले बिना पहले से बताए घर में घुस आए. पुलिस राज दिल्ली में लोकतंत्र की हत्या है. पूरे मुख्यमंत्री निवास में पुलिस वाले फैले हुए हैं. अगर एक चुने हुए मुख्यमंत्री के साथ ऐसा होगा, तो आप सोचिए कि वो आम लोगों के साथ क्या कर सकते हैं."

उन्होंने एक वीडियो ट्वीट कर पुलिस की कार्रवाई पर भी सवाल उठाए.

क्या है पूरा मामला?

दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने आरोप लगाया था कि आम आदमी पार्टी के दो विधायकों मे सोमवार को एक मीटिंग के दौरान उनके साथ मारपीट की थी. मामले में विधायक अमानतुल्लाह खान और प्रकाश जारवाल को कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है.

आरोप पर बीजेपी ने क्या कहा?

बीजेपी नेता जीतेंद्र सिंह ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि अफ़सरों ने दिल्ली सरकार में काम करने को लेकर सवाल उठाए थे जिसका सरकार ने संज्ञान लिया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

आईएएस एसोसिएशन की सचिव मनीषा सक्सेना ने गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर से मिलने के बाद कहा कि एसोसिएशन किसी भी पार्टी के दबाव में नहीं है और अधिकारियों को पिछले ढाई-तीन साल से परेशान किया जा रहा था. उन्होंने कहा कि उन्हें सरकार से सहयोग का भरोसा मिला है.

साल 2015 में केजरीवाल ने पीएम मोदी के ख़िलाफ़ ट्वीट कर उन्हें 'साइकोपैथ' बताया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे