ज़मीन से लेकर आसमां तक... होली है!

भारत समेत दुनिया के कई देशों में रंगों से खेलते हुए लोग होली मना रहे हैं. देखिए कुछ ऐसी ही तस्वीरें.

होली

इमेज स्रोत, AFP

इमेज कैप्शन,

भारत में होली दो मार्च को मनाई जानी है. लेकिन दफ्तरों से लेकर गलियों तक लोगों ने होली मनानी शुरू कर दी है. ये सिलीगुड़ी की तस्वीर है.

इमेज स्रोत, Reuters

इमेज कैप्शन,

हाल ही के दिनों में एक गाना बहुत हिट रहा था. बोल थे- तेनू काला चश्मा जचदा वे. कोलकाता के ये सज्जन यही सोचकर निकले होंगे लेकिन... होली है!

इमेज स्रोत, Reuters

इमेज कैप्शन,

लग भले ही रही हो लेकिन ये खिलौने वाली गुड़िया नहीं है. कोलकाता की गलियों में बदन से लेकर बालों तक तक रंगी हुई एक नन्हीं बिटिया.

इमेज स्रोत, EPA

इमेज कैप्शन,

होली के रंग सरहद नहीं जानते. ये तस्वीर नेपाल के नेवर समुदाय के लोगों की है, जहां दो लोग रंगीन हो रहे हैं

इमेज स्रोत, AFP

इमेज कैप्शन,

होली का असली आनंद रंग लगने से बचने की कोशिशों और रंग लगाने की दौड़ में है. ऐसा ही एक नज़ारा भोपाल की इस तस्वीर से मिलता है. जहां बचने की कोशिश भी है और चेहरे पर मुस्कान भी.

इमेज स्रोत, AFP

इमेज कैप्शन,

इस तस्वीर में आपको क्या दिखा? जवाब है- रंग खेलते दो बच्चे. आपके इस सही जवाब में एक जानकारी जोड़नी है. वो ये कि हैदराबाद के ये बच्चे देख नहीं सकते. लेकिन रंगों का मज़ा शायद महसूस करने में भी होता है.

इमेज स्रोत, AFP

इमेज कैप्शन,

ये रंग उन लोगों की ज़िंदगी के हैं, जिनकी ज़िंदगी से सालों पहले रंग चले गए थे. मथुरा जहां एक हफ्ते पहले होली शुरू हो जाती है, ये वृंदावन की उन्हीं विधवाओं की होली है.

इमेज स्रोत, AFP

इमेज कैप्शन,

कहीं पढ़ा था-सबसे ख़ूबसूरत शब्द वो होते हैं जो कहे नहीं जाते. मथुरा में इस बच्ची की तस्वीर का शायद यही कैप्शन है. हमने लिखा नहीं है, क्योंकि शायद आप समझ गए होंगे.