योगी बोले, मोदी के 'फॉर्मूले' से जीते पूर्वोत्तर

  • 3 मार्च 2018
त्रिपुरा, मेघालय, नगालैंड विधानसभा चुनाव नतीजे 2018

पूर्वोत्तर के तीन राज्यों त्रिपुरा, मेघालय और नगालैंड के विधानसभा चुनावों के नतीजों के रुझान आ रहे हैं जिसमें बीजेपी गठबंधन के साथ बहुमत की ओर बढ़ रही है. त्रिपुरा में 2013 के चुनाव में अपना खाता नहीं खोलने वाली बीजेपी इस बार अकेले दम पर स्पष्ट बहुमत की ओर बढ़ रही है.

जिनकी वजह से पूर्वोत्तर में बढ़ रही है बीजेपी

पूर्वोत्तर में बीजेपी किन कारणों से मज़बूत हो रही है

रुझानों पर बीजेपी महासचिव और पूर्वोत्तर के प्रभारी राम माधव ने कहा, "आखिरी नतीजे का इंतजार है लेकिन यह ऐतिहासिक जीत की ओर बढ़ रहा है. इस जीत का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को देना चाहूंगा. पूर्वोत्तर की जनता ने उनकी सोच को स्वीकार किया है. इसके अलावा कार्यकर्ताओं की मेहनत का भी अभिनंदन है. इस जीत में प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष बिप्लव देव, सुनील देवधर और हेमंत बिस्वा सरमा का भी बहुत बड़ा किरदार है."

पूर्वोत्तर में बीजेपी का ऐतिहासिक कारनामा

'लोग बदलाव चाहते हैं'

त्रिपुरा में बीजेपी अध्यक्ष बिप्लव देव ने कहा, "लोग अब बदलाव चाहते हैं. लोग बीजेपी की सरकार चाहते हैं. अब यह पक्का है कि त्रिपुरा में अगली सरकार बीजेपी ही बनाएगी."

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस जीत को ऐतिहासिक बताया. उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री जी ने इस देश के पूर्वी भारत के विकास की रणनीति तैयार की है. पहली बार किसी सरकार ने पूर्वी भारत के विकास को प्राथमिकता पर लेकर कार्ययोजना तैयार की है. और हर केंद्रीय मंत्री को इस बात को सुनिश्चित करने को कहा गया है कि वो पूर्वोत्तर के प्रत्येक राज्य में जाकर वहां रुकें, वहां की समस्याओं को सुनें. विकास कुछ चंद लोगों की जेब में नहीं, बल्कि धरातल पर दिखे."

पूर्वोत्तर में 'कांग्रेस का अंत' करने में लगे हिमंत

उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री की सोच के प्रति आम जनमानस का विश्वास दृढ़ होता हुआ दिखाई दिया. असम के बाद मणिपुर और अब त्रिपुरा की विजय, नगालैंड की विजय और मेघालय में जिस प्रकार बीजेपी गठबंधन को सफलता प्राप्त हो रही है, यह ऐतिहासिक है. मुझे लगता है कि भारत के लिए, भारतीय लोकतंत्र के लिए, भारतीय राजनीति के लिए आज का दिन बहुत महत्वपूर्ण है."

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने कहा, "पूर्वोत्तर राज्यों का राजनीतिक इतिहास बदलने वाला है. असम, अरुणाचल, मणिपुर बीजेपी सरकार के बाद अब इन तीनों राज्यों में बीजेपी की सरकार का बनने से पूरे देश में बीजेपी के प्रति लोगों की राय बदलेगी."

मोदी-राहुल के लिए कितने अहम पूर्वोत्तर के चुनाव?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

'पूर्वोत्तर में बीजेपी की जीत महत्वपूर्ण नहीं'

उधर, कांग्रेस प्रवक्ता कैप्टन डाबर ने एक टीवी चैनल पर कहा, "ये तीन राज्य बहुत छोटे हैं. पूर्वोत्तर में कुल मिलाकर 20 से 25 लोकसभा सीटें हैं. इनमें से तीन राज्यों में बीजेपी का आ जाना कोई ज्यादा महत्व नहीं रखता है. महत्व तो ये रखता है कि मध्य प्रदेश, राजस्थान और गुजरात के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ही आगे रहेगी."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए