श्रीदेवी की मौत की रात क्या हुआ था, बोनी कपूर की ज़ुबानी

  • 4 मार्च 2018
श्रीदेवी इमेज कॉपीरइट AFP/Getty Images

दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी के पति बोनी कपूर ने 24 फरवरी की रात के कुछ ब्यौरे साझा किए हैं.

24 फरवरी को ही श्रीदेवी की दुबई के एक होटल के कमरे के बाथ टब में डूबने से मौत हो गई थी.

बोनी कपूर ने बताया है कि कैसे वह अपनी पत्नी को सरप्राइज़ देने अचानक दुबई पहुंचे थे. कैसे वे गले मिले थे और एक दूसरे को चूमा था. और किस तरह इसके करीब दो घंटे बाद ही उन्हें श्रीदेवी पानी से भरे हुए बाथटब में पड़ी हुई मिली थीं.

बोनी कपूर ने अपने तीस वर्ष पुराने दोस्त ट्रेड एनालिस्ट कोमल नाहटा से बातचीत में 24 फरवरी की शाम के बारे में बताया है. कोमल नाहटा ने यह बातचीत अपने ब्लॉग पर प्रकाशित की है और उसे ट्विटर पर साझा किया है.

बोनी कपूर के हवाले से क्या लिखा है कोमल नाहटा ने

इमेज कॉपीरइट TWITTER @SRIDEVIBKAPOOR
Image caption श्रीदेवी, बोनी कपूर
  • बोनी ने नाहटा को बताया कि 24 साल में सिर्फ दो बार ऐसा हुआ, जब दोनों पति-पत्नी साथ में विदेश नहीं गए. फिल्म से जुड़े काम के लिए एक बार श्रीदेवी न्यूजर्सी और एक बार वैंकूवर गई थीं. बोनी ने नाहटा को बताया, "मैं उन दोनों ट्रिप पर उनके साथ नहीं था, लेकिन मैंने यह सुनिश्चित किया कि मेरे दोस्त की पत्नी उनके साथ थीं. दुबई इकलौता विदेशी ट्रिप था, जब श्रीदेवी दो दिन तक (22 और 23 फरवरी) अकेली रहीं."
  • बोनी, श्रीदेवी और खुशी एक पारिवारिक शादी समारोह के लिए दुबई पहुंचे थे, जो 20 फरवरी को संपन्न हो गई थी. बोनी की लखनऊ में एक 'अहम बैठक' थी, जिसके लिए वह भारत लौट आए थे. श्रीदेवी ने दुबई में ही रुकना तय किया था क्योंकि उन्हें जाह्नवी के लिए शॉपिंग करनी थी. नाहटा ने लिखा है, "जाह्नवी की शॉपिंग लिस्ट श्रीदेवी के फोन में थी. लेकिन वह 21 फरवरी को शॉपिंग करने नहीं जा सकीं क्योंकि उनका फोन रस-अल-खाइमाह में छूट गया था. दिन का ज़्यादातर समय उन्होंने अपने होटल रूम में रिलैक्स करते हुए बिताया."

पढ़ें: कैसे श्रीदेवी बोनी कपूर की होती चली गई थीं...

'पापा आपको मिस कर रही हूं'

इमेज कॉपीरइट Getty Images
  • बोनी ने नाहटा को बताया, "24 फरवरी की सुबह मेरी श्रीदेवी से बात हुई. जब उसने मुझे बताया, 'पापा (श्रीदेवी बोनी को यही बुलाती थीं), मैं आपको मिस कर रही हूं.' लेकिन मैंने उन्हें नहीं बताया कि मैं शाम को उनसे मिलने दुबई आ रहा हूं. जाह्नवी भी चाहती थी कि मैं दुबई आऊं क्योंकि उसे डर था कि उसकी मां, जिन्हें अकेले रहने की आदत नहीं थी, अपना पासपोर्ट या कोई ज़रूरी दस्तावेज़ खो सकती थीं."
  • नाहटा ने लिखा है कि बोनी ने अपनी 'जान' और दो बच्चियों- जाह्नवी और खुशी की मां श्रीदेवी को दुबई के जुमेराह एमिरेट्स टावर्स होटल पहुंचकर सरप्राइज़ दिया था. बोनी ने होटल से डुप्लिकेट चाभी लेकर श्रीदेवी का कमरा खोला था. नाहटा ने बोनी के हवाले से लिखा है, "दोनों टीनएज प्रेमियों की तरह गले लगे. " नाहटा के मुताबिक, बोनी ने सुबकते हुए उन्हें बताया, "उन्होंने (श्रीदेवी ने) मुझसे कहा कि उन्हें अंदाज़ा था कि मैं उनसे मिलने दुबई आ सकता हूं." दोनों गले लगे, चूमा और करीब आधे घंटे तक बातें कीं.

पढ़ें: तिरंगे में क्यों लपेटा गया श्रीदेवी का शव?

'बोनी ने टीवी ऑन कर लिया'

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption श्रीदेवी का पार्थिव शरीर
  • इसके बाद बोनी फ्रेश होने चले गए. बाथरूम से बाहर आकर उन्होंने प्रस्ताव दिया कि दोनों को रोमांटिक डिनर पर जाना चाहिए. उन्होंने श्रीदेवी से निवेदन किया कि वो अगले दिन शॉपिंग करना कैंसल कर दें. वापसी की टिकट फिर बदली जानी थीं क्योंकि दोनों ने अब 25 की रात को भारत लौटना तय किया था. शॉपिंग के लिए 25 को दिन में काफी समय मिल सकता था. श्रीदेवी अब भी रिलैक्स करने के मूड में थीं. रोमांटिक डिनर के लिए तैयार होने के लिए वह नहाने चली गईं.
  • बोनी ने नाहटा को बताया, "मैं लिविंग रूम में चला गया जबकि श्रीदेवी मास्टर बाथरूम में नहाने और तैयार होने चली गईं." लिविंग रूम में बोनी दक्षिण अफ्रीका और भारत के क्रिकेट मैच का अपडेट लेने के लिए टीवी चैनल बदलने लगे. फिर वह पाकिस्तान सुपर लीग के एक मैच की हाइलाइट्स देखने लगे. उन्होंने 15-20 मिनट तक मैच देखा. लेकिन फिर उन्हें यह फिक़्र होने लगी कि शनिवार को सभी रेस्त्रां में भीड़ होगी.

पढ़ें: श्रीदेवी के शव पर लेप, लेकिन ये ज़रूरी क्यों?

'जान, जान'

इमेज कॉपीरइट SRIDEVI/INSTAGRAM
Image caption श्रीदेवी, बोनी कपूर
  • तब करीब आठ बज रहे होंगे. बोनी ने अधीर होकर श्रीदेवी को लिविंग रूम से ही आवाज़ें दीं. उन्होंने दो बार श्रीदेवी को बुलाया, फिर उन्होंने टीवी की आवाज़ धीमी कर ली. तब भी कोई जवाब नहीं आया. फिर वह बेडरूम में गए, बाथरूम का दरवाज़ा खटखटाया और फिर उन्हें आवाज़ दी. अंदर से पानी का टैप खुला होने की आवाज़ सुनकर उन्होंने फिर "जान, जान" कहकर आवाज़ दी.
  • कोई जवाब नहीं आया तो बोनी घबरा गए और उन्होंने धक्का देकर दरवाज़ा खोला. दरवाज़ा अंदर से बंद नहीं था. बोनी थोड़े घबराए हुए थे लेकिन जो दृश्य उनकी आंखों के आगे आने वाला था, उसके लिए वह तब भी तैयार नहीं थे. बाथटब पानी से पूरा भरा हुआ था और श्रीदेवी उसमें पूरी डूबी हुईं थीं. सिर से लेकर अंगूठे तक. वह तेज़ी से उन तक पहुंचे लेकिन श्रीदेवी के शरीर में कोई हलचल नहीं हो रही थी.

पढ़ें: 'कभी हीरो से ज़्यादा फीस लेती थीं श्रीदेवी'

इमेज कॉपीरइट STR/Getty Images
  • नाहटा ने लिखा है, "जो कुछ हुआ, उसके लिए कोई तैयार नहीं था. वह पहले डूबीं, फिर बेहोश हुईं या पहले बेहोश हुईं, फिर डूबीं, शायद किसी को पता नहीं लगेगा. बाथटब से थोड़ा सा भी पानी नीचे नहीं गिरा था. श्रीदेवी को शायद एक मिनट के लिए भी संघर्ष करने का वक़्त नहीं मिला, क्योंकि अगर उन्होंने डूबते हुए अपने हाथ-पांव चलाए होते तो थोड़ा पानी टब से बाहर ज़रूर होता. लेकिन फ्लोर पर बिल्कुल पानी नहीं था."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे