मेघालय का सस्पेंस ख़त्म, कॉनराड संगमा बनेंगे मुख्यमंत्री

  • 4 मार्च 2018
कोनराड संगमा इमेज कॉपीरइट Twitter@SangmaConrad

मेघालय में जारी सियासी कयासों पर विराम लगाते हुए बीजेपी नेता हिमंता बिस्वा सरमा ने रविवार को इसकी घोषणा कर दी.

उन्होंने कहा, "ये जानकारी शेयर करती हुए खुशी हो रही है कि एनपीपी, यूडीपी, पीडीएफ़, एचएसपीडीपी, बीजेपी और एक निर्दलीय समेत 34 नवनिर्वाचित विधायकों ने राज्यपाल से मिलकर मेघालय में सरकार गठन का दावा किया है. कोनराड संगमा इस गठबंधन के नेता होंगे."

मेघालय प्रदेश बीजेपी के प्रवक्ता बासु चक्रवर्ती ने बीबीसी से कहा, ''राज्यपाल ने एनपीपी-बीजेपी गठबंधन को सरकार बनाने के लिए मौखिक तौर पर न्योता दे दिया है. कॉनराड संगमा मंगलवार सुबह साढ़े दस बजे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे''

गुवाहाटी में स्थानीय पत्रकार दिलीप शर्मा का कहना है कि अन्य बीजेपी नेताओं ने भी इस बात की पुष्टि की है, हालांकि राज्यपाल गंगा प्रसाद ने लिखित रूप से अभी तक किसी को सरकार बनाने का न्योता नहीं दिया है.

मेघालय में सरकार गठन का दावा कांग्रेस ने भी किया था, पर इस बात की संभावना कम दिख रही है कि राज्यपाल उन्हें सरकार गठन के लिए बुलाएंगे.

मेघालय विधानसभा में कांग्रेस के 21, एनपीपी के 19, यूडीपी के 6, अन्य 11 और बीजेपी के 2 विधायक चुनकर आए हैं.

साल 2013 के चुनाव में भाजपा ने इस राज्य में 13 उम्मीदवार उतारे थे, मगर कोई जीत न सका था.

इमेज कॉपीरइट Twitter@SangmaConrad

कौन हैं कॉनराड संगमा

मेघालय की राजनीति में कॉनराड संगमा की शुरुआती पहचान पूर्व लोकसभा अध्यक्ष पीए संगमा के बेटे की रही है.

कॉनराड 16वीं लोकसभा में अपने पिता के निर्वाचन क्षेत्र तुरा का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं.

कॉनराड संगमा के बारे में लंबे समय तक ये कहा जाता रहा कि वो अपने पिता की पार्टी (एनपीपी) संभाल नहीं पाएंगे, लेकिन सीएम पद की रेस में वे आगे निकल गए.

दिलचस्प बात ये भी है कि कॉनराड ने इस बार का विधानसभा चुनाव नहीं लड़ा है.

राजनीतिक पर्यवेक्षकों के मुताबिक़ पीए संगमा की राजनीतिक विरासत की उत्तराधिकारी पीए संगमा की बेटी अगाथा संगमा को माना जाता था.

अगाथा केंद्र में मंत्री रहीं, राज्य की राजनीति में सक्रिय थीं और मुख्यमंत्री पद की रेस में भी उनका नाम सबसे ऊपर था.

लेकिन मेघालय की राजनीति में पिछले बारह घंटे इस कदर अहम रहे कि अगाथा की जगह कॉनराड का नाम तय हो गया.

कॉनराड सबसे पहली बार 2008 के चुनावों में जीतकर मेघालय विधानसभा में पहुंचे. उन्हें राज्य का सबसे नौजवान वित्त मंत्री होने का रुतबा हासिल है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक औरट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार