तमिलनाडु: पेरियार की मूर्ति पर चोट, दो गिरफ़्तार

  • 7 मार्च 2018
इमेज कॉपीरइट FACEBOOK / DRAVIDARKAZHAGAM

तमिलनाडु पुलिस ने वेल्लूर ज़िले में पेरियार की मूर्ति को नुकसान पहुंचाने के आरोप में दो लोगों को गिरफ़्तार किया है.

पुलिस के मुताबिक दोनों लोग नशे की हालत में थे.

पुलिस अधीक्षक पगलवन ने बीबीसी को बताया कि रात नौ बजे के करीब पुलिस को जानकारी मिली कि वेल्लूर के तिरुपत्तूर तालुका में दो लोग पेरियार की मूर्ति को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं.

उन्होंने मूर्ति के चेहरे को हथोड़े की चोट से तोड़ दिया था.

पुलिस अधीक्षक के मुताबिक पेरियार के संगठन द्रविड़ कणगम और डीएमके के कुछ कार्यकर्ताओं ने उन्हें मूर्ति पर चोट करते देखा और पकड़कर स्थानीय पुलिस के हवाले कर दिया.

गिरफ़्तार लोगों में से एक का नाम मुरुगानंदम है. वो वेल्लूर में बीजेपी के शहर महासचिव हैं. दूसरे व्यक्ति का नाम फ्रांसिस है और वो कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यकर्ता हैं.

इमेज कॉपीरइट Twitter

फ़ेसबुक पोस्ट पर विवाद

इस घटना के पहले मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी के सचिव एच राजा की एक फ़ेसबुक पोस्ट पर विवाद शुरु हो गया था.

राजा ने फ़ेसबुक पर लिखा था कि 'त्रिपुरा में जिस तरह लेनिन की मूर्तियां तोड़ी गईं, एक दिन तमिलनाडु में उसी तरह पेरियार की मूर्तियां तोड़ी जाएंगी'.

विवाद होने पर उन्होंने अपना पोस्ट डिलीट कर दिया.

सोशल मीडिया में शेयर किए जा रहे एक वीडियो में त्रिपुरा के बेलोनिया शहर के सेंटर ऑफ कॉलेज स्कॉयर में खड़ी लेनिन की प्रतिमा को जेसीबी मशीन से गिराते देखा जा सकता है.

इस वीडियो में प्रतिमा गिरने का जश्न मनाते दिख रहे लोगों ने बीजेपी की टोपी पहनी हुई है. हालांकि, त्रिपुरा में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने बीबीसी संवाददाता सलमान रावी से बातचीत में दावा किया कि इस घटना से भारतीय जनता पार्टी और उसके कार्यकर्ताओं का कोई संबंध नहीं है.

त्रिपुरा: बीजेपी समर्थकों ने गिराई लेनिन की प्रतिमा!

कौन थे लेनिन, जिनकी मूर्ति गिरने पर इतना बवाल मचा

इमेज कॉपीरइट Twitter

सुरक्षा कड़ी

कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्विटर पर इस घटना की निंदा की है.

उन्होंने लिखा, " बीजेपी नेतृत्व की गरीब विरोधी, दलित विरोधी, महिला विरोधी मानसकिता एक बार फिर उजागर हुई है. बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव एच राजा ने परियार को अपशब्द कहे और उनकी मूर्ति तोड़ने की अपील की और वेल्लूर में बीजेपी नेताओं ने पेरियार की मूर्ति को तोड़ दिया. ये घृणित और अस्वीकार्य है."

वहीं तमिलनाडु पुलिस ने वेल्लूर समेत पूरे राज्य में पेरियार की मूर्तियों की सुरक्षा बढ़ा दी है.

क्यों उठ रही है भारत में द्रविडनाडु बनाने की मांग?

मूर्तियों को गिराने और तोड़ने के पीछे की सोच क्या है?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे