तमिलनाडु में जंगल की आग में फंसे 36 छात्र

  • 12 मार्च 2018
जंगल में आग इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption प्रतीकात्मक तस्वीर

तमिलनाडु के थेनी ज़िले के कुरनगनी के जंगल में लगी आग के कारण तक़रीबन 36 छात्र वहां फंस गए हैं.

ये छात्र कुरनगनी हिल स्टेशन पर ट्रेकिंग के लिए गए थे और जंगल की आग के कारण वहां फंस गए.

इस घटना को लेकर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कई ट्वीट किए हैं और बताया है कि छात्रों को बचाने के लिए अभियान जारी है.

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने मीडिया को अधिक जानकारी दी है कि कोयंबटूर से बचाव अभियान के लिए दस कमांडो को भेजा गया है. बचाव अभियान के बारे में रक्षा मंत्री ने कहा कि आग पर काबू पाने के लिए दो विमान भी भेजे गए हैं.

उन्होंने ट्वीट किया कि तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के अनुरोध के बाद उन्होंने दक्षिणी क्षेत्र के अधिकारियों को सभी फंसे हुए छात्रों की मदद के आदेश दिए हैं.

इसके बाद निर्मला सीतारमण ने तमिल भाषा में भी कई ट्वीट किए. हालांकि, उन्होंने सेना द्वारा मध्य प्रदेश में बोरवेल से बचाए गए बच्चे का ज़िक्र भी किया. उन्होंने ट्वीट किया, "तमिलनाडु के थेनी ज़िले में जब हम छात्रों को बचाने में लगे थे तो वहीं भारतीय सेना ने मध्य प्रदेश के देवास में 40 फ़ीट बोरवेल में गिरे एक बच्चे को बचा लिया है. यह अभियान कल से जारी था."

थेनी में स्थानीय मीडिया का कहना है कि बचाव अभियान में आम लोग भी कर्मचारियों की मदद कर रहे हैं.

थेनी ज़िले के दमकल विभाग के अधिकारी थेन्नारासू ने बीबीसी से कहा, "छात्र ट्रेकिंग के लिए यहां आए थे. वे चेन्नई के एक निजी ट्रेकिंग क्लब के ज़रिए यहां आए थे."

थेनी की ज़िलाधिकारी पल्लवी बलदेव ने वादा किया है कि सभी 36 लोगों को बचा लिया जाएगा.

Image caption कुछ लोगों को बचाया भी गया है

उन्होंने बताया, "अंधेरा होने के कारण बचाव अभियान में बाधा आ रही है, लेकिन मेडिकल टीम वहां मौजूद है. आग प्राकृतिक नहीं है."

बीबीसी से बात करते हुए राज्य के स्वास्थ्य मंत्री विजयभास्कर ने बताया है कि 12 लोगों को बचाया गया है.

इस घटना से बचकर आईं विजयलक्ष्मी बताती हैं, "हम चेन्नई के एक ट्रेकिंग क्लब के ज़रिए वहां गए थे. जिसमें से कुछ लोग वहां फंस गए. मैं भी जली हूं. हम पहाड़ से कूदकर भागे. जो भाग नहीं पाए, वह वहां फंस गए."

18 साल से जीतने वालों को तमिलनाडु की लड़कियों ने हरा दिया

हिंदू देवी देवताओं पर क्या थी पेरियार की सोच?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे