लालू यादव बीमार, जेल से अस्पताल लाए गए

  • 17 मार्च 2018
लालू यादव इमेज कॉपीरइट Twitter@laluprasadrjd

चारा घोटाला में जेल की सजा काट रहे राजद प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव की तबियत बिगड़ जाने के कारण शनिवार को दोपहर बाद उन्हें रांची स्थित राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्स) लाया गया.

रिम्स के अधीक्षक डॉक्टर एसके चौधरी ने बताया है कि लालू प्रसाद को अस्पताल में भर्ती कर लिया गया है. उन्हें सुपर स्पेशियलटी कॉर्डियोलॉजी विभाग में रखा गया है. इसी विभाग के डॉक्टर पीके झा और सर्जरी विभाग के डॉक्टर मृत्युंजय सरावगी उनकी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं.

अस्पताल के अधिकारियों के मुताबिक लालू प्रसाद को सीने में भारीपन की शिकायत है. इनके अलावा मल त्याग में भी कठिनाई हो रही है. लिहाजा कई जांच की जानी है. अगले 48 घंटे तक उन्हें ऑब्जर्वेशन में रखा जा सकता है. जांच पूरी होने के बाद ही स्थिति साफ हो सकेगी.

इमेज कॉपीरइट NIRAJ SINHA/BBC
Image caption अस्पताल में लालू यादव से मिलने आने वाले लोगों में रघुवंश प्रसाद सिंह भी थे

अस्पताल में नेताओं का तांता

इससे पहले रांची स्थित बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार के अधीक्षक एके चौधरी ने बीबीसी को फोन पर बताया कि लालू जी को एक फोड़ा हुआ है. यह फोड़ा कमर के नीचे है, लिहाजा बेहतर तरीके से इलाज के लिए जेल से रिम्स भेजा जा रहा है. संभव है कि फोड़े का ऑपरेशन करना पड़े.

लेकिन इस बीच लालू से मिलकर बाहर निकले रघुवंश प्रसाद सिंह ने बताया कि लालू जी की स्थिति सामान्य है और वे प्रसन्नचित हैं. उनके घाव की ड्रेसिंग कर दी गई है. और चिंता की कोई बात नहीं है.

उधर, लालू की तबीयत खऱाब होने की जानकारी मिलने के बाद बड़ी संख्या में आरजेडी के नेता अस्पताल पहुंचे हैं. इनमें लालू के बेटे पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव भी शामिल हैं.

गौरतलब है कि लालू हृदय रोग से पीड़ित रहे हैं और कुछ अरसे पहले उनका वॉल्व भी बदला गया था.

इमेज कॉपीरइट Niraj Sinha/BBC

चारा घोटाला के एक और यानी चौथे मामले में लालू के खिलाफ पंद्रह मार्च को सीबीआइ कोर्ट से फैसला आना था, जो फिलहाल टल गया है.

लालू के पैरवीकार वकील ने बताया है कि 19 मार्च को अब यह फैसला सुनाया जा सकता है.

ये मामला दुमका कोषागार से तीन करोड़ तेरह लाख रुपये की फर्जी निकासी से जुड़ा है. इस मामले में लालू के अलावा डॉक्टर जगन्नाथ मिश्र समेत कुल 31 आरोपी हैं.

इमेज कॉपीरइट Niraj Sinha/BBC

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे