इंदिरा गांधी के पोते आज प्रेस की आज़ादी की बात कर रहे हैं: भाजपा

निर्मला सीतारमण इमेज कॉपीरइट Getty Images

कांग्रेस महाधिवेशन में रविवार को अपने भाषण में राहुल गांधी ने जब बीजेपी पर तीखे हमले बोले तो बीजेपी की तरफ़ से उसका जवाब भी आया.

बीजेपी की वरिष्ठ नेता निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस कर कहा कि राहुल गांधी के बयानों में दम नहीं है.

निर्मला सीतारमण ने कहा कि राहुल गांधी का भाषण सिर्फ़ मज़ाक पर आधारित था और उसमें कोई ठोस बात नहीं कही गई थी.

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए जा रहे हैं, लेकिन आज तक उनकी सरकार पाक-साफ़ है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई सालों तक गुजरात के मुख्यमंत्री का पद संभाला और चार सालों से देश के प्रधानमंत्री का पद संभाल रहे हैं, लेकिन आज तक उन पर किसी भी तरह के भ्रष्टाचार के लिए उंगली नहीं उठाई गई.

बीजेपी-कांग्रेस की लड़ाई कौरवों-पांडवों जैसी: राहुल

निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस में और क्या-क्या कहा

इमेज कॉपीरइट TWITTER@INCIndia
  • राहुल ने न्यायपालिका तक को नहीं छोड़ा और उसका मज़ाक मना रहे हैं. जो चाहे वो अदालत जा सकता है और यह न्यायपालिका का मामला है, मैं इस पर ज़्यादा कुछ नहीं बोलूंगी.
  • इंदिरा गांधी ने न्यायपालिका के साथ क्या किया था, क्या यह याद दिलाना पड़ेगा? मीडिया को सुरक्षा की ज़रूरत नहीं है क्योंकि मीडिया स्वतंत्र है. 1988 में उनके पिता राजीव गांधी प्रेस डिफ़ेमेशन बिल लेकर आए थे, लेकिन आज उनके बेटे और इंदिरा के पोते मीडिया की सुरक्षा की बात कर रहे हैं.
  • आपातकाल और सिख विरोधी दंगों के लिए कांग्रेस ज़िम्मेदार है.
  • मोदी सरकार ने किसानों तक सीधा लाभ पहुंचाया है. डिजिटल तरह से उनके खातो में पैसे पहुंचाए गए जबकि कांग्रेस तकनीक के ख़िलाफ़ रही है.
  • कर्नाटक में कांग्रेस सरकार ने क्या कारनामा करके दिखाया, वहां वह किसानों की आत्महत्याएं क्यों नहीं रोक पाई.
इमेज कॉपीरइट TWITTER@INCINDIA
  • रिज़र्व बैंक के पास आए काले धन को गिनने के लिए उसे कांग्रेसियों को भर्ती करना चाहिए.
  • अमित शाह को कोर्ट ने बाइज़्ज़त बरी किया है, जो धाराएं उन पर लगाई गई थीं वो कांग्रेस द्वारा लगाई गई थीं क्योंकि वह उन्हें फंसाना चाहती थी. राहुल अमित शाह को अभियुक्त बता रहे हैं जबकि यह न्यायपालिका के आदेश के ख़िलाफ़ है.
  • राहुल गांधी 'नेशनल हेराल्ड' के आपराधिक साज़िश के मामले में ख़ुद ज़मानत पर बाहर हैं.
  • हीरा कारोबारी नीरव मोदी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उपनाम को एक कहकर उस पर तंज़ करने का अर्थ क्या है.
  • कांग्रेस पार्टी की विचारधारा क्या है? कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 'देश के टुकड़े-टुकड़े होंगे' का नारा लगाने वाले अलगाववादियों के साथ जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में खड़े थे.
  • भारत के लोग अच्छे से जानते हैं कि पांडव कौन हैं और कौरव कौन हैं.
  • राहुल ने अपने भाषण में हिंदू धर्म का ज़िक्र किया. वह तो पहले से ही हिंदू धर्म का मज़ाक करते रहे हैं. राहुल ढोंगी पुजारी को न ढूंढें बल्कि सच्चे पुजारी को ढूंढें तो वह उनको सच बताएंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार