इराक़ में लापता 39 भारतीय अब जिंदा नहीं: सुषमा स्वराज

  • 20 मार्च 2018
सुषमा स्वराज इमेज कॉपीरइट Getty Images

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राज्यसभा में बताया कि इराक़ में 2014 में लापता हुए 40 भारतीयों में से 39 मारे गए हैं. उन्होंने कहा कि ये चरमपंथी संगठन आईएसआईएस के हाथों मारे गए.

सुषमा ने कहा कि इराक़ के मूसल में लापता सभी 39 भारतीय अब ज़िंदा नहीं हैं. इन सभी को लेकर देश के भीतर अनिश्चय की स्थिति थी.

उन्होंने बताया कि 40वां शख़्स हरजीत मसीह मुसलमान बनकर वहां से भागने में कामयाब हुए थे.

विदेश मंत्री ने कहा कि मौत की पुष्टि मृतकों के परिजनों के डीएनए सैंपल को मैच करा कर किया गया है. मारे गए लोगों में से 31 पंजाब के, चार हिमाचल के और बाक़ी पश्चिम बंगाल और बिहार के थे.

इमेज कॉपीरइट RAVINDAR ROBIN
Image caption इराक़ में लापता हुआ एक युवक मनजिंदर सिंह

सुषमा स्वराज ने राज्यसभा में कहा कि शवों को क़ब्र खोद कर निकाला गया था. सभी शव एक ही क़ब्र में मिले थे.

उन्होंने कहा कि चारों राज्यों की सरकारों से डीएनए सैंपल मंगवाए गए थे, फिर उसे मैच करने के लिए भेजा गया था.

उन्होंने कहा कि सबसे पहला डीएनए मैच संदीप नाम के लड़के का हुआ. विदेश मंत्री ने कहा कि डीएनए मैच से बड़ा सबूत कुछ नहीं हो सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे