जानिए लालू यादव की होने वाली बहू ऐश्वर्या के बारे में

  • 6 अप्रैल 2018
ऐश्वर्या राय, बिहार, दरोगा प्रसाद राय, बिहार के 10वें मुख्यमंत्री, लालू यादव, तेज़ प्रसाद यादव, तेजस्वी यादव, राबड़ी देवी, चंद्रिका प्रसाद राय इमेज कॉपीरइट Bipin Kumar/BBC

ऐश्वर्या राय. जी हां इसी मशहूर नाम की हमनाम लालू यादव की बड़ी बहू बनने जा रही हैं.

अक्सर अपने बयानों से चर्चा में रहने वाले और बिहार के सबसे योग्य कुंवारों में से एक राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज़ प्रताप यादव की शादी तय हो गई है.

छपरा ज़िला के परसा विधानसभा क्षेत्र से राजद विधायक और पूर्व मंत्री चंद्रिका प्रसाद राय की बड़ी बेटी ऐश्वर्या राय से तेज़ की शादी होगी.

शादी तय होने के बाद चंद्रिका के यहां पहुंचने वाले लोग उन्हें बधाई दे रहे हैं. इन्हीं लोगों से घिरे चंद्रिका ने बीबीसी से भी रिश्ता तय होने की पुष्टि की.

'नरेंद्र मोदी की खाल उधड़वा लेंगे'

किसके साथ हो रही है मुकेश अंबानी के बेटे की शादी?

इमेज कॉपीरइट Manish Shandilya/BBC
Image caption ऐश्वर्या के दादा दिवंगत दरोगा प्रसाद राय बिहार के 10वें मुख्यमंत्री थे

बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके हैं ऐश्वर्या के दादा

चंद्रिका राय के तीन बच्चे हैं. दो बेटियां और एक बेटा. बेटियों में बड़ी ऐश्वर्या हैं. दूसरी बेटी आयुषी राय इंजीनियरिंग कर जॉब में हैं, जबकि बच्चों में सबसे बड़े और उनके बेटे अपूर्व राय अभी पटना में ही वकालत करते हैं.

जहां एक ओर तेज़ प्रताप के माता-पिता यानी की राबड़ी देवी और लालू यादव बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री रहे हैं वहीं ऐश्वर्या के दादा दिवंगत दरोगा प्रसाद राय बिहार के 10वें मुख्यमंत्री थे.

दारोगा राय 16 फरवरी 1970 से 22 दिसंबर 1970 तक बिहार के मुख्यमंत्री रहे.

इमेज कॉपीरइट Manish Shandilya/BBC
Image caption चंद्रिका प्रसाद राय की बेटी हैं ऐश्वर्या राय

जल्द ही समधी-समधन बनने वाले चंद्रिका और राबड़ी देवी का पटना में सरकारी आवास एक ही सड़क सर्कुलर रोड पर है. चंद्रिका के आवास का पता 5, सर्कुलर रोड है तो राबड़ी का 10, सर्कुलर रोड.

इतना ही नहीं, जहां राबड़ी के आवास के मेन गेट पर राजद का चुनावी चिह्न लालटेन रखा हुआ है तो वहीं चंद्रिका के घर के दरवाजे के सामने का दोनों ओर का हिस्सा लालटेन से सजाया हुआ है.

इमेज कॉपीरइट Bipin Kumar/BBC
Image caption ऐश्वर्या राय

होने वाली बहू पढ़ाई में बेटे से आगे

लालू की होने वाली बहू शैक्षणिक योग्यता में उनके बड़े बेटे से काफ़ी आगे हैं. तेज़ प्रताप वैशाली ज़िले की महुआ सीट से विधायक हैं. 2015 के विधानसभा चुनाव के हलफ़नामे के मुताबिक उन्होंने बारहवीं तक की पढ़ाई की है.

वहीं ऐश्वर्या पढ़ाई में जहीन (तेज़) रही हैं. 12वीं तक की पढ़ाई उन्होंने पटना के मशहूर स्कूल नोट्रेडम एकेडमी से की. उनके पिता चंद्रिका के मुताबिक 12वीं में उन्हें 89% अंक मिले थे. वहीं स्नातक की पढ़ाई उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी के दौलत राम कॉलेज से की है. वे इतिहास में स्नातक हैं. इसके बाद उन्होंने एमिटी यूनिवर्सिटी से मास्टर्स ऑफ़ सोशल वर्क्स की पढ़ाई की.

चंद्रिका ने ऐश्वर्या की रुचियों के बारे में कहा, ''उन्हें राजनीति में कोई रुचि नहीं है. उनका सामाजिक कार्यों में ज़्यादा मन लगता है. अपनी पढ़ाई के दौरान भी वह ऐसे कई प्रोजेक्ट का हिस्सा रहीं.''

ऐश्वर्य को इसके अलावे स्वीमिंग, ट्रैवलिंग और रीडिंग का भी शौक है. उनके पिता के मुताबिक स्कूली पढ़ाई के दौरान उन्होंने राज्य स्तरीय तैराकी प्रतियोगिता में दूसरा स्थान हासिल किया था.

इमेज कॉपीरइट Manish Shandilya/BBC
Image caption तेजस्वी यादव और तेज़ प्रसाद यादव

शादी को लेकर चर्चा में रहे हैं दोनों भाई

लालू प्रसाद के दोनों बेटे तेज़ प्रताप और तेजस्वी यादव की शादी की चर्चाएं अक्सर होती रहती हैं. महागठबंधन सरकार में तेजस्वी जब डिप्टी सीएम थे तो सड़क निर्माण विभाग के हेल्पलाइन नंबर पर उनकी शादी के लिए चालीस हज़ार प्रस्ताव आने की ख़बरें सुर्खियां बनी थीं.

वहीं कुछ महीनों पहले तेज़ प्रताप ने अपने लिए दुल्हन खोजने की ज़िम्मेदारी उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को दी थी. जबकि शादी के सवाल पर तेजस्वी बीबीसी के साथ इंटरव्यू में कह चुके हैं वे माता-पिता की पसंद से शादी करेंगे.

इमेज कॉपीरइट Bipin Kumar/BBC

चंद्रिका राय का कहना है कि अभी शादी की तारीख तय नहीं हुई है. वहीं स्थानीय मीडिया के मुताबिक 18 अप्रैल को सगाई होगी और 12 मई को शादी की तारीख पक्की हुई है.

महागठबंधन सरकार में चंद्रिका राय और तेज़ सहकर्मी भी थे. तेज़ के पास जहां अहम स्वास्थ्य विभाग और दूसरे महक़मे थे तो वहीं परिवहन विभाग की जिम्मेवारी चंद्रिका के पास थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे