सलमान ख़ान को ज़मानत मिली, पहुंचे मुंबई

  • 7 अप्रैल 2018
सलमान ख़ान इमेज कॉपीरइट Getty Images

अभिनेता सलमान ख़ान को जोधपुर की जि़ला सत्र न्यायालय से शनिवार को जमानत मिल गई. 50 हज़ार रुपये के मुचलके पर जेल से रिहा होने के बाद वो मुंबई पहुंच चुके हैं.

जेल से रिहा होने के बाद सलमान विशेष विमान से मुंबई पहुंचे. सलमान ख़ान को इस बार जोधपुर सेंट्रल जेल में दो रात बितानी पड़ी.

करीब बीस साल पुराने काले हिरण के शिकार मामले में गुरुवार को जोधपुर की एक कोर्ट ने सलमान को दोषी ठहराया था और पांच साल की सज़ा सुनाई थी.

जोधपुर ज़िला सत्र न्यायालय ने सलमान की ज़मानत अर्ज़ी पर शुक्रवार को सुनवाई की थी लेकिन निचली अदालत का रिकॉर्ड न होने से सुनवाई शनिवार तक के लिए टल गई थी.

शनिवार सुबह से ही जोधपुर कोर्ट परिसर के बाहर लोगों की भारी भीड़ जुटी थी. कोर्ट से जमानत मंजूर होते ही सलमान के फैन्स खुशी में झूमने और नाचने लगे.

इमेज कॉपीरइट Supriya sogle

फैन्स की भीड़

वहीं, मुंबई से स्थानीय पत्रकार सुप्रिया सोगले के मुताबिक सलमान के घर के बाहर फैन्स की भीड़ जमा है.

बांद्रा स्थित "गैलेक्सी अपार्टमेंट" के बाहर फैन्स की भीड़ सलमान को जमानत मिलने की ख़बर आने के साथ ही जुटने लगी. सलमान का घर इसी अपार्टमेंट में है.

सलमान के घर के बाहर कई फैन गुरुवार से ही मौजूद हैं. इनमें से एक हैं मुंबई के शेख जावेद अख्तर सलाम. उनका कहना है कि वो बीते तीन दिन से माहिम दरगाह में सलमान के लिए दुआ कर रहे थे.

प्रशंसकों की भीड़ को देखते हुए सलमान के घर के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

काले हिरण के शिकार मामले में सलमान ख़ान को पांच साल जेल

सलमान मामले के जज समेत 87 जजों का तबादला किसने किया?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सीजेएम ने फ़ैसले में क्या कहा था?

जोधपुर के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट देवकुमार खत्री ने गुरुवार को सलमान को सज़ा सुनाई थी. उन्होंने अपने फैसले में कहा था कि काले हिरणों की एंटीलॉप सर्वीकापरा की प्रजाति लुप्त होती जा रही है, जिससे पारिस्थितिक संतुलन को भी नुकसान हो रहा है.

ये काले हिरणों के शिकार से जुड़ा चौथा मामला है. बाकी मामलों में सलमान ख़ान बरी हो चुके हैं. शिकार का ये मामला साल 1998 का है.

अभियोजन पक्ष के मुताबिक शिकार की ये घटना तब की है जब ये सभी लोग फ़िल्म 'हम साथ-साथ हैं' की शूटिंग के लिए जोधपुर में रुके हुए थे.

सीजेएम खत्री ने सज़ा सुनाते हुए 201 पन्नों का लिखित फ़ैसला दिया.

उन्होंने फ़ैसले में अपने फ़ैसले में कहा कि सलमान ख़ान एक बहुचर्चित कलाकार हैं, जिनका आम लोग अनुसरण करते हैं, इसके बावजूद उन्होंने काले हिरणों का शिकार किया है.

इस मामले में सलमान ख़ान के साथ फ़िल्म अभिनेता सैफ़ अली ख़ान, अभिनेत्री सोनाली बेंद्रे, तब्बू, नीलम और दुष्यंत भी अभियुक्त थे.

लेकिन कोर्ट ने सलमान ख़ान को दोषी क़रार दिया और बाक़ी सभी को बरी कर दिया था.

अभियोजन पक्ष ने इस मामले में कुल 28 गवाह अदालत में पेश किए.

काले हिरण में ऐसा क्या है कि सलमान ख़ान की जान फंसी है?

सलमान ख़ान और आम लोगों के लिए न्यायिक प्रक्रिया में कितना अंतर?

सलमान ख़ान के जेल जाने पर क्या बोले पाकिस्तानी?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे