प्रेस रिव्यू: अरुण जेटली को कौन दे रहा है किडनी?

  • 9 अप्रैल 2018
अरुण जेटली इमेज कॉपीरइट Getty Images

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को एम्स में डायलिसिस पर रखा गया है. इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर के अनुसार एम्स में जेटली की किडनी का ट्रांसप्लांट किया जाना है. अख़बार ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि लगातार दूसरे दिन भी डॉक्टरों ने जेटली को निगरानी में रखा.

अख़बार ने एक अधिकारी के हवाले से लिखा है, ''किडनी ट्रांसप्लांट से पहले अरुण जेटली को कुछ दिनों तक डायलिसिस पर रखा जाएगा. ट्रांसप्लांट सर्जरी की कोई तय तारीख़ नहीं है और यह किसी दिन भी हो सकता है.''

डॉक्टरों का कहना है कि डायलिसिस की ज़रूरत इसलिए है क्योंकि किडनी ट्रांसप्लांट सफल रहे.

अख़बार का कहना है कि इससे पहले ट्रांसप्लांट सर्जरी रविवार को होने वाली थी, लेकिन जेटली को डायबिटीज है इसलिए देरी हो रही है.

अख़बार के अनुसार जेटली को जिस शख़्स से किडनी मिल रही है उसका परीक्षण हो गया है. डोनर की पहचान को गोपनीय रखा गया है. जेटली की किडनी का ट्रांसप्लांट के लिए एम्स में डॉक्टरों की एक टीम बनाई गई है. इस टीम का नेतृत्व डॉ वीके बंसल कर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सीआईएसएफ द्वारा संरक्षित 59 में से सिर्फ़ छह एयरपोर्ट पर ही बम निरोधक दस्ता मौजूद है.

हिंदुस्तान टाइम्स में प्रकाशित ख़बर के अनुसार सीआईएसएफ की एक ऑडिट रिपोर्ट में बताया गया है कि दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, कोलकाता, कोच्चि और हैदराबाद के हवाई अड्डों पर ही बम निरोधक दस्ता मौजूद है.

ख़बर के अनुसार ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी के मुताबिक़ हवाई अड्डों के पास 28 उपकरण होने ज़रूरी हैं, इनमें विस्फोटक वाष्प डिटेक्टर, बम निरोधक सूट और डिटेक्टर शामिल हैं. अगर इन 28 में से कोई एक भी उपकरण मौजूद ना हो तो बम निरोधक दस्ता पूरा नहीं माना जाता.

जिन 6 एयरपोर्ट में बम निरोधक दस्ता है उनमें से सिर्फ़ कोलकाता और चेन्नै को एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया चला रही है बाकी के चार एयरपोर्ट प्राइवेट कंपनियों के हाथों में हैं.

'2019 में बनारस से भी हार जाएंगे मोदी'

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि अगर विपक्ष एकजुट हो जाए तो भाजपा 2019 का चुनाव नहीं जीत पाएगी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बनारस की अपनी सीट पर हार का सामना कर सकते हैं.

अमर उजाला में प्रकाशित खबर के मुताबिक बेंगलुरु में राहुल गांधी से जब 'दलित आक्रोश'' पर एक सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, ''साफ़ कहूं तो मुझे नहीं लग रहा कि बीजेपी अगला चुनाव जीतेगी.''

राहुल गांधी ने कहा, भाजपा 2019 का लोकसभा चुनाव नहीं जीत पाएगी और उनके ख़िलाफ़ अगर सपा और बसपा एकजुट हो गई तो मोदी भी बनारस से अपनी सीट हार सकते हैं.

राहुल ने उत्तर प्रदेश, बिहार में सपा-बसपा और राजद-कांग्रेस की दोस्ती, तमिलनाडु में डीएमके-एनसीपी-टीएमसी की दोस्ती की चर्चा करते हुए पूछा कि इनमें से बीजेपी कहां है? उन्होंने कहा कि राजस्थान, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, गुजरात, हरियाणा में हम जल्द ही कब्ज़ा करने जा रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अब अरुणाचल में आमने-सामने आए भारत चीन

अरुणाचल प्रदेश से सटे चीन के सीमाई इलाक़ें में भारतीय सेना के गश्त बढ़ाए जाने से भारत और चीन एक बार फिर आमने-सामने आ गए हैं.

जनसत्ता में प्रकाशित खबर के मुताबिक अरुणाचल प्रदेश के सुबानसिरी इलाके के असाफीला में भारतीय सेना की गश्त पर चीन ने आपत्ति जताई है.

चीन ने इसे विवादित इलाक़ा बताते हुए भारतीय सेना पर नियंत्रण रेखा के कथित तौर पर अतिक्रमण करने का दावा किया है जबकि भारत ने इस दावे को खारिज किया है.

अख़बार लिखता है कि भारत ने कहा है कि सुबानसिरी क्षेत्र और उसका असाफीला इलाक़ा भारत का ही हिस्सा है और वहां निगरानी और सैन्य गतिविधियां जारी रखेंगी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

आरबीआई ने बैंकों पर बढ़ाई अपनी निगरानी

देश के कई सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (पीएसबी) के लिए अब छोटे और मध्यम व्यापारियों को लोन देना आसान नहीं होगा.

इंडियन में प्रकाशित ख़बर के अनुसार आरबीआई जल्दी ही देश में मौजूद आधे से अधिक सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को तत्काल सुधारात्मक कार्रवाई यानि पीसीए के अंतर्गत लाने वाला है. इससे बैंकों की लोन देने की गतिविधियों पर प्रभाव पड़ेगा.

इमेज कॉपीरइट AFP

इसके साथ ही अखबार लिखता है कि सरकारी सूत्रों के अनुसार तीन या चार अन्य बैंकों को उनके खराब प्रदर्शन के चलते पीसीए के अंतर्गत लाया जा सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए